आरमोरी में कांग्रेस ने किया अग्निपथ योजना का निषेध, केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

    आरमोरी. स्थानीय भगतसिंह चौक में जिला कांग्रेस की ओर से केंद्र सरकार के अग्निपथ योजना का निषेध किया गया. वहीं केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अग्निपथ यह योजना रद्द करने की मांग कांग्रेस के पदाधिकारियों ने की. 

    केंद्र सरकार द्वारा घोषित की गई है. यह ‘अग्नीपथ’ योजना झांसेभरी हे. बेरोजगार युवकों को प्रलोभन में भटकने हेतु रखने के लिए यह योजना लागू की जा रही है. किंतू अनेक वर्षो से सैन्य भर्ती के प्रयास में जो युवा है, उन्हे निराश करने का कार्य केंद्र सरकार ने किया है. फौज में सैनिक बनने का ख्वाब संजोए रखनेवाले लाखों युवकों को ठेका पद्धति के गहरी खायी में ढकेलनेवाली यह योजना है. वर्ष 17 से 22 वर्ष के बच्चों को 4 वर्ष के लिए फौज में लेंगे, बाद में 4 वर्ष बाद यह बच्चे क्या करे? ऐसा सवाल भी कांग्रेस के पदाधिकारियों ने उपस्थित किया है.

    केंद्र सरकार की योजना विद्यार्थियों का भविष्य खतरे में डालनेवाली है. जिससे इस योजना का जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से पार्षद मिलींद खोब्रागडे के नेतृत्व में निषेध किया गया. इस समय आदिवासी सेल के जिला सचिव दिलीप घोडाम, तहसील कांग्रेस के सचिव शशिकांत गेडाम, प्रवीण रहाटे, रूपेश जवंजालकर, सूरज भोयर, अंकुश गाढवे, वैभव कुथे, रवी राऊत, अतुल राऊत, अतुल भोयर, मयूर खोब्रागडे, रमेश तोडरे, अनिकेत कुथे, अजय नारनवरे, बालकृष्ण चहांदे, नेताजी गले, रविंद्र निंबेकर, बबन जवंजालकर, मंगेश पाटील, सुनील कुमरे, गणेश पेटकुले, बबलू जवंजालकर, अनूप मानकर, जितेंद्र सोमकनकर, अभिजीत कोल्हे, राहुल हनवते, नितिन भोयर, खेमराज चाटाले, सूरज सोमनकर, पंकज सोमनकर, अमित नेवारे इनके साथ कांग्रेस के पदाधिकारी व कार्यकर्ते उपस्थित थे.