सड़क का निर्माणकार्य करें, अन्यथा आंदोलन, अन्याय, अन्यथा भ्रष्टाचार समिति की चेतावनी

    कोरची. कोरची-भिमपुर मार्ग की हालत पुरी तरह खस्ताहाल हो गयी. मार्ग पर जगह-जगह गड्डे निर्माण होने के कारण दुर्घटनाओं में इजाफा हो गया है. उक्त मार्ग यह राज्यमहामार्ग होकर आतंराज्यीय यातायात होती है. लेकिन वर्तमान स्थिति में सड़क पुरी तरह खस्ताहाल होने के कारण जानलेवा बन गयी है. जिससे तत्काल कोरची-भिमपुर मार्ग की मरम्मत करें, अन्यथा 18 अक्टूबर को चक्काजाम आंदोलन किया जाएगा. ऐसी चेतावनी अन्याय, अत्याचार भ्रष्टाचार समिति के पदाधिकारियों ने तहसीलदार के माध्यम से जिलाधिश को भिजवाये ज्ञापन में की है.

    ज्ञापन में समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि, उक्त मार्ग पर मरम्मत के नाम पर प्रति वर्ष लाखों रूपये खर्च किए जाते है. लेकिन बारिश के दिन शुरू होते ही मार्ग की हालत जैसे थे हो जाती है. वर्तमान स्थिति में बारिश के दिन शुरू होकर मार्ग पर जगह-जगह पर गड्डे निर्माण हो गये है. हाल ही में इस मार्ग पर छत्तीसगढ़ निवासी एक व्यक्ति दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गया है. वहीं तीन दिन पहले कोरची का एक व्यवसायिक भी खस्ता सड़क के चलते गंभीर घायल हुआ है. वहीं दो दिन पहले छग की बस फंसने के कारण करीब 5 से 6 घंटों तक यातायात प्रभावित हो गयी थी.

    इस संदर्भ में संबंधित विभाग का ध्यानाकर्षण कराने के बावजूद भी अनदेखी की जा रही है. जिससे निर्माण विभाग की कार्यप्रणाली के प्रति तहसील के नागरिकों में तीव्र नाराजगी व्याप्त है. कुछ माह पहले इसी मार्ग पर 500 मिटर सिमेंट सड़क तैयार किया गया.

    किंतु यह कार्य घटिया दर्जे का होने के कारण ठेकेदार का नाम काली सूची में डालने, साथ ही सड़क की मरम्मत तत्काल करे, अन्यथा 18 अक्टूबर को चक्काजाम आंदोलन किया जाएगा. ऐसी चेतावनी दी गई. तहसीलदार को ज्ञापन सौंपते समय समिति के आशिष अग्रवाल, चेतन कराड़े, अभिजित निंबेकर, धम्मदीप लाड़े, चंदु वालदे, कृष्णा वंजारी, शाम यादव, रवी बावणे, प्पपु सिन्हा, सिध्दू राऊत, भुपेश शेंडे, जयलाल सिद्रांम, भूषण तेलामी आदि उपस्थित थे.