Leopard
File Pic

    • कोरेगांव-चोप परिसर में तेंदुए की दहशत

    गड़चिरोली. तहसील के रावणवाड़ी टोली गांव में एक किसान के गौशाला में घुसकर 15 बकरियों का शिकार करने की घटना गुरूवार को तड़के घटी. इस घटना से संपूर्ण गांव में खलबली मच गयी है. बता दे कि, पिछले कुछ दिनों से कोरेगांव-चोप परिसर में तेंदुए का वास्तव होकर गुरूवार को तड़के घटी इस परिसर में नागरिक दहशत में आ गये है. तहसील के बोडदा ग्रापं अंतर्गत आनेवाले रावणवाड़ी टोली गांव निवासी प्रभु नैताम नामक किसान हमेशा की तरह बुधवार की रात गौशाला में बकरियां बांधकर रखा था.

    इस दौरान रात के समय तेंदुए गौशाला में घुसकर बकरियों पर हमला बोल दिया. जिसमें 11 बकरियों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गयी. वहीं 4 बकरियों को जंगल में ले भागा. गुरूवार को सुबह यह घटना उजागर होते ही ग्रामीणों में खलबली मच गयी. ग्रामीणों ने इस घटना की वनविभाग के कर्मचारियों को दी. जिसके बाद क्षेत्र सहायक कंकलवार, चोप के वनरक्षक कानकाटे, रावणवाड़ी के वनरक्षक कांबले आदि घटनास्थल पर पहुंचकर घटना का पंचनामा किया. इस घटना में 1 लाख रूपयों का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

    तेंदुओं की एक से अधिक

    बुधवार की रात रावणवाड़ी गांव निवासी प्रभु नैताम नामक किसान के गौशाला में घुसकर तेंदुए ने 11 बकरियों को मौत के घाट उतार दिया. वहीं 4 बकरियों को जंगल में ले भागा. विशेषत: 8 फिट उंची संरक्षण दिवार फानकर  चार बकरियों को जंगल में ले जाने से इस घटना में एक से अधिक तेंदुओं की संख्या होने की बात कही जा रही है. इस क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से तेंदुए की दहशत काफी बढ़ गयी है. जिससे नागरिकों में अब तेंदुए की दहशत निर्माण हो गयी है.

    तेंदुए को पकडऩे की मांग

    पिछले कुछ दिनों से चोप-कोरेगांव परिसर में तेंदुए की दहशत निर्माण हो गयी है. हाल ही में तेंदुए ने इस क्षेत्र में मवेशियों को अपना शिकार बनाया था. और अब गौशाला में घुसकर 15 बकरियों को अपना निवाला बनाने से परिसर के नागरिक पुरी तरह भयभित हो गये है. अब तक इस परिसर में मवेशियों का शिकार करने की यह चौथी घटना होकर वनविभाग तत्काल तेंदुए का बंदोबस्त करें, ऐसी मांग ग्रामीणों ने की है.

    सीताटोला में तेंदुए ने किया गाय का शिकार

    इधर धानोरा तहसील के सीताटोला गांव परिसर में जंगल में चरने गयी गाय पर तेंदुए ने हमला कर मौत के घाट उतार दिया है. यह घटना बुधवार को दोपहर के समय घटी. विशेषत: चरवाह पेड़ के पिछे छिपने के कारण उसकी जान बच गयी. बता दे कि, बुधवार को इस तहसील के मेटेजांगदा गांव में में वनविभाग ने घर में घुसे एक तेंदूए को पकड़ा था.

    और गुरूवार को इसी गांव से महज 3 किमी दूरी पर बसे सीताटोला परिसर में तेंदुए ने गाय का शिकार करने से परिसर के नागरिकों में दहशत का वातावारण निर्माण हो गया है. इस घटना में शिवराम वट्टी नामक  किसान का हजारों रूपयों का नुकसान हुआ है.

    कुएं में गिरा तेंदुआ, वनविभाग ने बचाई जान

    वडसा वनविभाग अंतर्गत आनेवाले देसाईगंज तहसील के डोंगरगांव में शिकार का पिछा करते हुए गांव में पहुंचा तेंदुआ कुएं में गिरने की घटना गुरूवार को दोपहर के समय घटी. इस घटना की जानकारी मिलते ही वनविभाग की टिम तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर कुएं में गिरे तेंंदुए को बाहर निकाला. वहीं तेंदुए को पिंजरे में कैद कर उसपर उपचार करने के बाद उसे जंगल में छोड़ा जाएगा. ऐसी जानकारी वडसा वनविभाग के सहायक उपवनसंरक्षक मनोज चव्हाण ने दी है.