इस गांव के लोगों ने नहीं देखी लालपरी, अंबेझरा गांव का मामला, सड़कों का अभाव बना सिरदर्द

    अहेरी . एक तरफ सरकार मेक इन इंडिया का नारा देते हुए सभी क्षेत्र का विकास करने की बात कह रही है. मात्र दुसरी ओर राज्य के आखरी छोर पर बसे गड़चिरोली के जिले के ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्र के गांवों तक अब तक बुनियादी सुविधाएं नहीं पहुंच पायी है. जिसके कारण इस क्षेत्र के नागरिक आज भी बुनियादी सुविधाओं से वंचित है.

    ऐसा ही एक मामला अहेरी तहसील के अंबेझरा गांव में सामने आया है. इस गांव में अब तक किसी भी तरह की सुविधा नहीं पहुंच पाने के कारण इस गांव के लोगों को विकास की प्रतिक्षा करनी पड़ रही है. विशेषत: गांव तक पहुंचने के लिये पक्की सड़क नहीं बनने के कारण इस गांव में अबतक रापनि की बस नहीं पहुंच पायी है. और न हीं कोई भी चौपहिया वाहन नहीं पहुंच पायी है. सड़क का अभाव होने के कारण इस क्षेत्र के नागरिकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जिससे जनप्रतिनिधि और प्रशासन इस ओर गंभीरता से ध्यान देकर तत्काल सड़क निर्माण करें, ऐसी मांग नागरिकों ने की है.

     विभिन्न समस्याओं से जुझ रहे ग्रामीण

    अहेरी तहसील मुख्यालय से 35 किमी दुरी पर बसे तथा आवलमरी ग्राम पंचायत अंतर्गत आनेवाले अंबेझरा गांव में आदिवासी समाज बसा है. यह क्षेत्र पुरी तरह जंगल से घिरा है. विशेषत: इस गांव में जाने के लिये अब तक पक्की सड़क नहीं बनने के कारण इस गांव में अब तक चौपहिया और दुपहिया वाहन नहीं पहुंच पायी है.

    जिससे ग्रामीण पैदल अथवा बैलगाडियों से आवागमन करते है. वहीं दुसरी गंभीर समस्या बिजली बनी हुई है. जिला निर्माण के 38 वर्ष बाद भी इस गांव में बिजली नहीं पहुंची है. जिसके कारण ग्रामीणों को अंधेरे में अपना जीवनयापन करना पड़ रहा है।.गांव के लोगों को राहत दिलाने के लिये सौरदिये लगाए गए थे. किंतु वर्तमान स्थिति मेंं उनका कोई उपयोग न होकर सौरदिये शो-पिस बनकर रह गये है. जिससे इस गांव के लोगों को विभिन्न समस्याओं से जुझना पड़ रहा है.

    स्वास्थ्य सुविधा के लिये करना पड़ता है लंबा सफर

    इस गांव में अब तक स्वास्थ्य सुविधा नहीं पहुंच पायी है. जिसके कारण प्रति वर्ष बरसात के दिनों में विभिन्न बिमारियों का ग्रामीणों को सामना करना पड़ रहा है. इस गांव के नागरिकों को स्वास्थ्य सुविधा पाने के लिये लंबा सफर कर आवलमरी गांव में पहुंचना पड़ रहा है. ऐसे में यदि किसी मरीज की हालत गंभीर हो तो, उसे तत्काल स्वास्थ्य सेवा मिलना दुश्वार हो गया है.

    गांव में स्वास्थ्य पथक निर्माण करने की मांग पिछले अनेक वर्षो से ग्रामीणों द्वारा की जा रही है. लेकिन प्रशासन की अनदेखी के कारण गांव में अब तक स्वास्थ्य सुविधा नहीं पहुंच पायी है. जिसके कारण ग्रामीणों के स्वास्थ्य सेवा पाने के लिये लंबा सफर तय करना पड़ रहा है.

    प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को ध्यान देने की आवश्यकता

    अंबेझरा गांव में विभिन्न सुविधाओं का अभाव होने के कारण ग्रामीणों को पिछले अनेक वर्षो से नरकिय यातना भुगतनी पड़ रही है. सड़क, स्वास्थ्य, बिजली जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग को लेकर ग्रामीण निरंतर प्रयास कर रहे है. लेकिन इस गांव में अब तक एक भी सुविधा नहीं पहुंच पायी है. जिसके कारण ग्रामीण पुरी तरह त्रस्त हो गये है. जिससे गांव में सुविधा उपलब्ध कराने के लिये प्रशासन और जनप्रतिनिधि गंभीरता से ध्यान दे, ऐसी मांग ग्रामीणों ने की है.