पुलिस ने की नक्सली साजिश विफल, विस्फोटक के साथ बड़ी मात्रा में नक्सल साहित्य जब्त

    •  मडवेली जंगल परिसर की घटना 

    गड़चिरोली.  भामरागड़ उपविभाग अंतर्गत आनेवाले ताड़गांव पुलिस मदद केंद्र के तहत आनेवाले मडवेली जंगल परिसर में पुलिस व नक्सलियों के बिच मुठभेड़ हुई. मुठभेड़ के बाद घटनास्थल से बड़ी मात्रा में विस्फोटक के साथ अन्य नक्सल साहित्य जबत किया गया. उक्त विस्फोटक घटनास्थल पर ही विस्फोट कर नष्ट किए गए. विलय दिवस के मद्देनजर नक्सलियों की बड़ी साजिक को विफल करने में पुलिस को सफलता मिली है. 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार नक्सल विरोधी अभियान के जवान रविवार, 19 सितंबर को ताडगांव पुलिस मदद केंद्र अंतर्गत आनेवाले मड़वेली जंगल परिसर में नक्सल विरोधी अभियान चला रहे थे. इस बिच दोपहर 12.30 बजे के दौरान पेरमिली दलम के नक्सलियों ने जवानों की दिशा में अंधाधुंद गोलीबारी शुरू की.

    जिससे पुलिस जवानों ने भी नक्सलियों के हमले का मुंहतोड़ जवाब देते हुए फायरींग की. पुलिस के बढ़ता प्रभाव के चलते नक्सली घने जंगल का लाभ उठाकर भाग गए. मुठभेड़ के बाद उक्त जंगल परिसर में जवानों ने खोज अभियान चलाया. जिससे घटनास्थल से आईईडी, कुकर बम, बड़ी मात्रा में पिट्टू व नक्सल साहित्य बरामद हुए. आईईडी व कुकर बम सतर्कतापूर्व घटनास्थल पर ही विस्फोट कर नष्ट किया गया. 

    एसपी ने की जवानों की प्रशंसा 

    अप्पर पुलिस अधिक्षक (अभियान) सोमय मुंडे, अप्पर पुलिस अधिक्षक अहेरी (अभियान) मनिष कलवानिया, अप्पर पुलिस अधिक्षक समीर शेख (प्रशासन), सी-60 प्रभारी अभिजीत पाटील ने उक्त नक्सल विरोधी अभियान सफल करेन व्यापक प्रयास किया. पुलिस अधिक्षक अंकित गोयल ने विशेष अभियान दस्ते के जवानों के शौर्यपूर्ण कार्य की प्रशंसा की है. इस दौरान परिसर में नक्सल विरोधी अभियान तिव्र करने के संकेत सूचना की है. 

    घटनास्थल पर था नक्सलियों का शिविर 

    मुठभेड़ के बाद जवानों ने घटनास्थल पर सर्च ऑपरेशन चलाने पर घटनास्थल के निरीक्षण के तहत करीब 35 से 40 नक्सली शिविर में सहभागी होने की बात स्पष्ट हुई. वहीं घटनास्थल से आईईडी, कुकर बम, बडी मात्रा में पिट्टू व अन्य नक्सल साहित्य बरामद किए गए. जिससे नक्सलियों ने बड़ा शिविर आयोजित करने का दिखाई दिया. जिससे जवानों ने नक्सलियों के खिलाफ महत्वपूर्ण कार्रवाई करते हुए नक्सलियों के शिविर को ध्वस्त किया.