नुकसानग्रस्त क्षेत्र के पंचनामे शुरू, कृषि व राजस्व विभाग के कर्मचारी खेतों में पहुंचे

    गड़चिरोली. जिले के अनेक क्षेत्र में शनिवार से बेमौसम बारिश ने दस्तक दी है. किसानों के हाथ आयी धान फसल छिन गई है जिससे किसानों में निराशा छायी है. प्रशासन की ओर से नुकसानग्रस्त क्षेत्र के पंचनामे शुरू किए गए हैं.

    इस दौरान गड़चिरोली तहसील के गोगांव, अडपल्ली परिसर में कृषि अधिकारी व कर्मीयों ने किसानों के खेतों पर जाकर नुकसान का निरीक्षण किया. जिले में विगत 10 से 12 दिनों से मध्यम व भारी प्रजाति के धान की कटाई व बांधनी का कार्य शुरू है. अनेक किसानों ने धान की कटाई कर फसले खेत में सुखाने के लिए रखे थे.

    ऐसे में बेमौसम बारिश के रूप में किसानों आफत बरसी. निरंतर 3 दिन बेमौसम बारिश होने से धान फसले भीग गई है. किसानों की फसले खराब होने से काफी नुकसान हुआ है. कुछ किसानों के खेत में घुटनों तक पानी भर गया है. किसानों के मुंह तक आया निवाला बारिश के चलते छिन गया है.

    जिससे नुकसानग्रस्त क्षेत्र के तत्काल पंचनामे कर मुआवजा देने की मांग किसानों के साथ जिले के जनप्रतिनिधियों ने सरकार से की थी. इसकी सुध लेते हुए कृषि विभाग ने नुकसानग्रस्त खेतों का निरीक्षण शुरू किया है.

    तहसील के गोगांव व अडपल्ली के किसानों के खेत पर पहुंचकर कृषि विभाग के कर्मियों ने पंचनामे करने का कार्य शुरू किया है. इस परिसर में कृषि सहायक एस. एन. चलाख, बीमा प्रतिनिधि संदीप नंदनवार इनके साथ कृषि व राजस्व विभाग के कर्मी तथा किसान उपस्थित थे.