साप्ताहीक बाजार शुरू करे -एड. आखाडे की मांग

    गड़चिरोली. फिलहाल जिले में कोरोना का प्रकोप कम होने से जिला प्रशासन ने जिला मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्र के साप्ताहीक बाजार शुरू करे, ऐसी मांग नप के पूर्व शिक्षा सभापती एड. प्रशांत आखाडे ने प्रेस विज्ञप्ति से की है. 

    कोरोना का प्रकोप बढने के बाद सरकार ने विभिन्न मुद्दों पर पाबंदी लगाई है. इसमें साप्ताहीक बाजार का समावेश था. जिससे करीबन डेढ वर्षों से साप्ताहीक बाजार बंद है. अब कोरोना का प्रकोप नियंत्रण में आने के बाद सरकार ने विभिन्न बंधन में शिथीलता देने में प्रारंभ किया है. सिनेमा हॉल, मॉल, नाट्यगृह, स्कुल, महाविद्यालय शुरू करने में तथा दुकान रात 11 बजे तक शुरू रखने में अनुमति दी है.

    मात्र साप्ताहीक बाजार की पाबंदी अभी तक कायम है. साप्ताहीक बाजार पर पाबंदी होने से छोटे-छोटे व्यवसाय करनेवाले को जीवनयापना करना मुश्किल हो रहा है. साप्ताहीक बाजार न भरने से ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों को अपने क्षेत्र में जीवनावश्यक वस्तु लेने में अडचण निर्माण हो रही है. छोटे किसानों को शहर में सब्जीया व वस्तु बिक्री करने में अडचण आ रही है.

    जिससे उनके वस्तुओं को ग्रामीण क्षेत्र में किंमत न आने से उन पर वित्तिय संकट खडा है. इन सभी बातों का विचार करते हुए जिला प्रशासन तत्काल साप्ताहीक बाजार शुरू करने के आदेश निर्गमित करे अन्यथा प्रशासन के विरोध में आंदोलन छेडा जाएगा, ऐसी चेतावनी पूर्व शिक्षा सभापती एड. प्रशांत आखाडे ने दी है.