बंदूकधारी लोगों ने व्यापारी से ऐंठे पैसे, दहशत में लोग

    • एटापल्ली के तोड़सा टोला गांव का मामला 

    गड़चिरोली. एटापल्ली पुलिस थाना क्षेत्र अंतर्गत आनेवाले तोड़सा टोला गांव में एक व्यवसायिक को तीन बंदुकधारी लोगों ने धमकाकर 3 लाख रूपये मांगे. लेकिन व्यापारी के पास 3 लाख रूपये नगद नहीं होने के कारण बंदुधधारियों ने व्यापारी के पास से 6 हजार रूपये छिनकर तथा उनके मोबाईल जंगल में फरार होने का मामला सामने आया है. वहीं बंदुधारियों ने व्यापारी व उसके परिजन से छिने हुए मोबाईल जंगल में फेंक दिये थे.

    इस मामले में तोड़सा गांव समेत परिसर के नागरिकों में दहशत का वातावरण निर्माण हो गया है. विशेषत: दुसरी बार आने पर 3 लाख रूपये नकद तैयार रखने की चेतावनी भी बंदुकधारियों ने दी है. जिससे व्यापारी    से पैसे एठनेवाले नक्सली है, या फिर तोतया नक्सली? इस प्रश्र लेकर  तोड़सा व एटापल्ली परिसर में विभिन्न तरह की चर्चाएं शुरू हो गयी है. 

    व्यापारी ने की थाने में शिकायत

    निर्मल पांड़े नामक व्यापारी पिछले अनेक वर्षो से तोड़सा टोला में पक्का मकान तैयार और व्यवसाय कर अपने परिवार के साथ जीवनयापन कर रहा था. इसी बीच चार दिन पहले चार बंदुकधारी लोग रात के समय उसके घर में प्रवेश किये. और बंकुद की नौक दिखाकर व्यापारी से 3 लाख रूपयों की मांग करने लगे. लेकिन व्यापारी के पास इतनी बड़ी राशि नहीं होने से बंदुकधारियों ने उसके पास से 6 हजार रूपये एठकर ले गये. इस घटना की शिकायत निर्मल पांडे ने एटापल्ली पुलिस थाने में दर्ज की है. 

    दहशत में ग्रामीणों ने जागते हुए गुजारी रात

    एक व्यापारी के घर बंदुकधारी लोग पहुंचकर उसके पास से पैसे ऐठने का मामला उजागर होते ही तोड़सा टोला और तोडसा गांव के नागरिकों में दहशत निर्माण हो गयी है. इस घटना के बाद ग्रामीण रात के समय सोने के बजाय रात भर जागते रहे. वहीं रात के समय ग्रामीणोंं ने अपने पास लोहे का सलिया, मिर्च पावडऱ समेत अन्य सामग्री अपनी सुरक्षा करने के लिये पास रखने की जानकारी मिली है. लेकिन पुलिस ने इस बात की पृष्टि नहीं की है. 

    मामले की गंभीरता से जांच शुरू

    इस घटना  संदर्भ में एटापल्ली के उपविभागीय पुलिस अधिकारी सुदर्शन राठोड़ से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि, संबंधित व्यापारी ने घटना संदर्भ में एटापल्ली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की है. इस मामले की पुलिस गंभीर से जांच कर रही है. ऐसी बात उन्होंने कही.