Leopard attacked again in Mumbai, 14 year old boy injured, eighth incident of attack in 1 month
File Photo

    चामोर्शी. अपने घर के प्रांगण में बर्तन धो रही महिला पर अचाक तेंदुए ने हमला बोल दिया. इस घटना में महिला गंभीर रूप से घायल हो गयी. यह घटना बुधवार को सुबह के समय आष्टी के पेपरमिल परिसर में घटी. घायल महिला का नाम पेपरमिल कॉलोनी निवासी बबिता दिलीप मंडल (46) है.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार, सुबह के समय बबिता मंडल अपने घर के प्रांगण में बर्तन हो रही थी. इस दौरान अचानक तेंदुए ने महिला पर हमला किया.महिला द्वारा चिखे-चिल्लाए जाने पर आसपास के युवक घटनास्थल पर पहुंचे. और तेंदुए को खदैड़कर महिला की जान बचाई.

    जिसके बाद गंभीर घायल अवस्था में महिला को उपचार के लिये आष्टी के ग्रामीण अस्पताल में भर्ती कराया गया. पिछले कुछ माह से इस क्षेत्र में तेंदुए की दहशत निर्माण होकर आष्टी समेत परिसर के गांवों के नागरिक दहशत में अपना जीवनयापन कर रहे है.

    तेंदुए के हमले में जारी

    इससे पहले ही आष्टी पेपरमिल परिसर में तेंदुए ने गणेश आरती के लिये जा रहे एक 8 वर्षिय बालक पर हमला किया था. मात्र उस समय बालक के साथ जा रहे सेक्युरिटी गार्ड ने बालक की जान बचाई थी. लेकिन इस घटना में बालक गंभीर रूप से घायल हो गया था. वहीं इसी परिसर के मार्कंडा क्षेत्र में अपनी मां और दादाजी के साथ बकरियों को चराने गए एक बालक पर तेंदुए ने हमला किया. जिसमें बालक की मृत्यु हो गयी. और अब महिला पर तेंदुए ने हमला किया है. इसके अलावा आए दिन तेंदुआ दिखाई देने के कारण परिसर के लोग दहशत में है.

    ग्रामीणों ने दी आंदोलन की चेतावनी

    पिछले कुछ माह से आष्टी परिसर के गांवों में तेंदुए की दहशत निर्माण होकर पहले तेंदुआ बकरियों को अपना निवाला बना रहा था. लेकिन अब वह मनूष्य पर हमला करने लगा है. तेंदुए का तत्काल बंदोबस्त करने की मांग परिसर के नागरिकों द्वारा वनविभाग से की गई. लेकिन वनविभाग इस ओर अनदेखी कर रहा है.  जिसके कारण परिसर के नागरिकों में वनविभाग की कार्यप्रणाली के प्रति तीव्र नाराजगी व्यक्त की जा रही है. जिससे तत्काल तेंदुए का बंदोबस्त करें, अन्यथा वनविभाग के खिलाफ आंदोलन करने की चेतावनी परिसर के नागरिकोंं ने दी है.

    तेंदुए को पकडऩे मिला आदेश: राऊत

    मार्कंडा (कं) की वनपरिक्षेत्राधिकारी भारती राऊत ने बताया कि, पिछले कुछ दिनों से तेंदुआ मनूष्यों पर हमला कर रहा है. जिससे परिसर के लोग दहशत में जीवनयापन कर रहे है. ऐसे में वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दहशत मचानेवाले तेंंदूए को पकडऩे का आदेश मिला है. जिससे जंगल में तेंदुआ पकडऩे के लिये पिंजरे भी लगाए जाएंगे. ऐसी जानकारी उन्होंने दी.