जिले के 20 एसटी कर्मचारी निलंबित

     गोंदिया.  राज्य परिवहन निगम के कर्मचारी आंदोलन को लेकर अडिग है. वहीं अब निगम ने कर्मचारियों के खिलाफ निलंबित करने की कार्रवाई शुरू की है. इसके अनुसार जिले के गोंदिया व तिरोडा डिपो के क्रमश: 10 इस तरह कुल 20 कर्मचारियों के निलंबित किया गया है. जिससे अब इस आंदोलन को लेकर कर्मचारी कौनसा कमद उठाते है इस पर सभी की नजर लगी हुई है.

    रापनि का शासन में विलय किया जाए. सहित अन्य मांगों के लिए कर्मचारियों ने 27 अक्टूबर से आंदोलन शुरू किया है. इस पर परिवहन मंत्री ने कर्मचारियों को 1 प्रश घर किराया भत्ता व 28 प्रश महंगाई भत्ता देने के लिए मान्य किया लेकिन निगम को शासन में विलय यह मुख्य मांग पूर्ण नहीं की गई. इससे कर्मचारियों में आक्रोश है, जिससे उन्होंने आंदोलन शुरू ही रखा है.

    इस आंदोलन में 31 अक्टूबर से गोंदिया व तिरोडा डिपो के कर्मचारी शामिल हुए है. जिससे बसेस की संपूर्ण फेरिया रद्द हो गई है. ऐन त्यौहार के दौरान किए गए इस आंदोलन से नागरिकों को आवागमन की समस्या से जुझना पड रहा है. मुंबई हायकोर्ट ने भी आंदोलन वापस लेने बताया था, इसी बीच कर्मचारी प्रतिनिधि, शासन के प्रतिनिधियों के बीच हुई चर्चा के बाद हायकोर्ट ने 12 सप्ताह में प्रक्रिया पूर्ण करेंगे. ऐसा स्पष्ट किया है.

    इस सब के बावजूद कर्मचारियों ने मांग पूर्ण होने तक आंदोलन शुरू रखने का निर्णय लिया है. जिससे निगम ने आंदोलन में शामिल होने वाले कर्मचारियों कों निलंबित करने की कार्रवाई शुरू कर दी है. जिसमें गोंदिया डिपो के 10 व तिरोडा डिपो के 10 कर्मचारियों को निलंबित किया गया है.