गुजरात में गोंदिया जिले के 4 लोगों की हत्या

    देवरी. जिले की देवरी तहसील अंतर्गत ओवारा ग्रापं के टोयाटोला निवासी सुरेश कैलाश वल्के (36) यह अपनी 2 पुत्री व 1 पुत्र सहित गुजरात स्थित सूरत में मजदूरी का काम करने के लिए गया था. लेकिन 14 नवंबर को सुरेश, 2 पुत्रियों और 1 पुत्र इस तरह 4 लोगों की हत्या कर उनके शवों को तालाब व खेत परिसर में फेंक दिया गया.

    इस घटना की गंभीरता को लेकर पूर्व विधायक संजय पुराम के नेतृत्व में भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने 22 नवंबर को ज्ञापन सौंपकर घटना की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है. जानकारी के अनुसार टोयाटोला निवासी सुरेश वल्के यह अपने परिवार की 2 पुत्रिया ग्रेसी (13) व रूक्ष (6) और पुत्र मोक्ष (3) सहित कुछ दिनों के पूर्व गुजरात राज्य के सूरत शहर में मजदूरी का काम करने के लिए गया था. इसमें विशेष बात यह है कि उसकी पत्नी सुरेश और तीनों बच्चों को छोड़कर तीन चार वर्ष पूर्व मायके चली गई थी.

    इसी बीच सुरेश और उनके बच्चों की हत्या होने के एक दिन पूर्व सुरेश ने अपने चाचा को पैसे की समस्या है कहकर मोबाइल पर संपर्क  भी किया था. इसके बाद दुसरे दिन सुरेश का शव सूरत के कंबरेज पुलिस स्टेशन की सीमा वाले खेत परिसर व बच्चों के शव तालाब में पाए जाने की सूचना टोयाटोला में उसके परिवार को दी गई.

    घटना के आरोपी अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर हैं. जिससे इस प्रकरण की सीबीआई से जांच कर आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग का ज्ञापन गुजरात के मुख्यमंत्री को तहसीलदार के माध्यम से भेजा गया है. इसी तरह अपर पुलिस अधीक्षक बनकर से भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने भी भेंट की है.

    मृतक के पिता कैलाश वल्के, भाई मनोज वल्के, पूर्व विधायक संजय पुराम, ओबीसी आघाडी के जिला उपाध्यक्ष राजेश चांदेवार, पूर्व नगराध्यक्ष कौशल्या कुंभरे, सरपंच संगठन के जिलाध्यक्ष कमल येरणे, अनिल बिसेन, आनंद नलपते, गजानन शिवणकर, विजय मडावी, महिला तहसील अध्यक्ष देवकी मरई, नूतन सयाम, नमिता सयाम, दिशांत चन्ने, दीपक साहु आदि उपस्थित थे.