अंततः सेवा सहकारी संस्था काम्पलेक्स निर्माण कार्य की अनुमति रद्द

    • नपं ने संस्था को दिया 1 महीने के भीतर शासकीय जगह खाली करने का अल्टीमेट

    गोरेगांव. शहर में सेवा सहकारी संस्था काम्पलेक्स निर्माण कार्य विवादों से थमने का नाम नहीं ले रहा है. सहकारी संस्था द्वारा मांगी गई निर्माण कार्य की अनुमति नगर पंचायत ने अंततः रद्द कर दी है. साथ ही एक महीने के भीतर शासकीय जगह पर स्थित अनाधिकृत निर्माण कार्य गिराकर शासकीय जगह खुला करने का अल्टीमेट  नपं ने सेवा सहकारी संस्था को दिया है.   

    उल्लेखनीय है कि शहर के दुर्गा चौक में स्थित सेवा सहकारी काम्पलेक्स निर्माण कार्य अनुमति आवेदन संस्था द्वारा  12 फरवरी 2021को नगर पंचायत को दिया गया था. लेकिन निर्माण कार्य का कुछ हिस्सा शासकीय जगह पर होने की शिकायत के चलते नपं ने संस्था को निर्माण कार्य करने की अनुमति नहीं दी थी. साथ ही उक्त निर्माण कार्य को तत्काल रोक देने के आदेश पर संस्था को दिए गए थे लेकिन संस्था द्वारा निर्माण कार्य निरंतर शुरू रखा गया ऐसी शिकायत शिकायतकर्ता द्वारा नपं को प्राप्त हुई थी.

    जिसके चलते नगर पंचायत द्वारा संदर्भ क्रमांक 2 के तहत शुरू निर्माण कार्य रोकने के आदेश 10 सितंबर को दोबारा से सेवा सहकारी संस्था को दिए गए थे ऐसे में नगर पंचायत द्वारा इस प्रकरण की विस्तृत रूप से जांच कि गई जिसमें  न.भु. क्र.1262 व शि.क्र.19 पर निर्माण कार्य शुरू है.

    जिसमें संस्था द्वारा प्रस्तुत किया गया नक्शा 0.5 हेक्टर आर. है व मालमत्ते कार्ड में उक्त जमीन 444.7 चौरस मीटर बताई गई है. इस प्रकरण में संस्था की कुछ खामियां नजर आ रही है जिसमें निर्माण कार्य की अनुमति मिलने से पहले ही काम्पलेक्स का निर्माण कार्य शुरू किया गया. साथ ही प्रास्ताविक नक्शे  में दिखाए गए निर्माण कार्य व स्थित जगह पर शुरू निर्माण कार्य में फर्क है तथा मौके पर शुरू निर्माण कार्य प्रास्ताविक नक्शे से अधिक है व क. प्रत की जांच में स्थित कुछ हिस्सा शासकीय जगह पर बता रहा है.

    ऐसे में इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए न.भ.क्र.1262 पर निर्माण कार्य महाराष्ट्र नगर रचना अधिनियम 1966  की धारा 54,53 अनाधिकृत निर्माण कार्य तत्काल रोकने साथ ही शासकीय जगह पर किया गया निर्माण कार्य एक महीने के भीतर खाली करने का अल्टीमेट पत्र नगर पंचायत द्वारा संस्था को 14 सितंबर को दिया गया हैं. ऐसे में सेवा संस्था काम्पलेक्स निर्माण कार्य फिर विवादों में घिरते नजर आ रहा है.