जर्जर सड़कों के नवीनीकरण, मरम्मत व नए मार्ग निर्माण को लेकर विधायक अग्रवाल सख्त, अधिकारियों की बैठक लेकर दिए कड़े निर्देश

    गोंदिया. विधायक विनोद अग्रवाल ने गोंदिया विधानसभा क्षेत्र में सड़कों की जर्जर अवस्था पर, नए सड़क निर्माण, राष्ट्रीय महामार्ग के कार्यो पर सभी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर उनकी समीक्षा की व इन कार्यो को तुरंत गति देने के सख्त निर्देश दिए.

    बैठक में बाढ़ से ग्रस्त सड़कों की दुरुस्ती, खराब राज्य मार्ग व जिला मार्ग की दुरुस्ती व शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की सभी सड़कों की मरम्मत, नए रास्तों का नवीनीकरण, डामरीकरण, पुल आदि पर विस्तार से चर्चा हुई.

    अग्रवाल ने सभी कार्यो की समीक्षा के साथ ही, रावणवाड़ी नेशनल हाइवे से कामठा, आमगांव, सालेकसा होते हुए डोंगरगढ़ छत्तीसगढ़ तक इस मार्ग को इंटरस्टेट कनेक्टिविटी के तहत नेशनल हाइवे करने का प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए. इसके अलावा कारंजा पुलिस मुख्यालय से जिलाधीश कार्यालय तक बायपास का कार्य, गोंदिया-रावणवाड़ी राष्ट्रीय महामार्ग पर डामरीकरण के कार्य को जल्द शुरू करने के निर्देश दिए.

    भारी वाहनों के आवाजाही को बायपास रूप में जोड़ने के लिए नंगपुरा/मुर्री से भागवत टोला होते हुए मार्ग को सीमेंटीकरण करने के लिए नियोजन करने व प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए. इसके साथ ही फुलचुर नाके से जयस्तंभ चौक, नेहरू चौक होते हुए मरारटोली बालाघाट टी-पॉइंट तक करीब 3.6 किमी. तक सड़क नवीनीकरण करने के निर्देश दिए.

    गोंदिया शहर में जर्जर सड़को के गड्ढे भरने के लिए भी कड़े निर्देश दिए गए थे, जिसके तहत कुड़वा से बालाघाट टी पॉइंट रिंगरोड के गड्ढे बुझाने कार्य जारी हुआ है. जिसका सिमेंटीकरण कार्य भी दिवाली के बाद शुरू हो जाएगा. जिससे इस समस्या का स्थाई समाधान होगा. इसी तरह प्रभात टॉकीज से विधायक कार्यालय होते हुए पुरानी कृषि उत्पन्न बाजार समिति की ओर जाने वाला मार्ग भी भूमिगत गटर योजना के कारण रुका हुआ है, इसके भी गड्ढे जल्द भरे जाने की जानकारी अधिकारियों ने विधायक अग्रवाल को दी.

    उल्लेखनीय है कि शहर में भूमिगत गटार योजना के चालू कार्य के चलते सड़कों के निर्माण कार्य को प्रस्तावित रखा गया है. गटार योजना के कार्य पश्चात इन सड़कों के कार्य को गति दी जाएगी. बैठक में अग्रवाल ने ग्रामीण क्षेत्र के सभी छोटे-बड़े मार्गो को दुरुस्ती, मरम्मत करने जल्द नियोजन बनाकर प्रस्ताव शासन को भेजने के निर्देश दिए. बैठक में राष्ट्रीय महामार्ग, सार्वजनिक बांधकाम विभाग क्रमांक 1, महाराष्ट्र पर्यटन विकास महामंडल, सार्वजनिक बांधकाम विभाग जिप के कार्यकारी अभियंता, उप अभियंता व अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे.