छालों की परवाह किए बिना पैदल जा रहे माता के दरबार

    गोंदिया. मां बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए श्रध्दालु डोंगरगढ़ के लिए पैदल जाते नजर आ रहे हैं. शहर सड़कों पर यह नजारा शाम होने के बाद दिखाई दे रहा है.

    सुर्याटोला के युवक महेंद्र आहाके, लोकेश बारबुध्दे, स्वप्नील कटारे, रजत गौतम, विक्रम वाढीवे, शुभम लांजेवार, राहुल यादव, पंकज घोसे, अतुल गौतम, ऊमेश गौतम, सागर गौतम, सोनू लांजेवार, अभिषेक राऊत, कोमल वैरागडे ने आमगांव रोड पर स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर (काच मंदिर) में पूजा अर्चना कर डोंगरगढ के लिए अपनी यात्रा की शुरूआत की. 

    गुंज रहे ‘जय माता दी’ के नारे 

    चलते-चलते भले ही पैरों में छाले पड़ जाएं, भुख लगे या प्यास इनकी परवाह किए बिना श्रद्धालु चले जा रहे हैं. मां के दरबार में माथा टेकने और दर्शन करने की ललक लिए, श्रद्धालुओं का हौसला तब और बढ़ जाता है जब राह चलते लोग ‘जय माता दी’ का नारा लगाकर पैदल जा रहे श्रध्दालुओं में नया जोश भर देते हैं.