नक्सलियों का षडय़ंत्र बेनकाब, पुलिस ने विस्फोटक व हथियारों का जखिरा किया जप्त

    गोंदिया. सालेकसा पुलिस स्टेशन अंतर्गत गढ़माता पहाड़ी परिसर में पुलिस की हत्या करने के उद्देश्य से नक्सलियों ने विस्फोटक साहित्य व हथियार छुपाकर रखे थे. इस संबंध में गुप्त सुचना जिला नक्सली विरोधी अभियान दल गोंदिया को मिली थी.

    जिससे जिला पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे व डीवायएसपी जालिंदर नालकुल के मार्गदर्शन में नक्सल सेल, बम खोजी दस्ते की टीम ने घटना स्थल पर पहुंचकर बेवारटोला डॅम के निकट बड़ी संख्या में विस्फोटक व हथियारों का जखिरा जप्त किया है.

    यह कार्रवाई रविवार को की गई है. एसपी पानसरे व डीवायएसपी नालकुल के मार्गदर्शन में नक्सल सेल गोंदिया सी 60 दल गोंदिया व सालेकसा तथा बमनाशक दल व श्वान दल की मदद से सालेकसा पुलिस स्टेशन अंतर्गत गढ़माता परिसर की खोज की गई.

    जहां कुछ देर खोजबीन करने के बाद बड़ी संख्या में हथियार पुलिस के हाथ लग गए है. पुलिस ने घटना स्थल पर विस्फोटक साहित्य, नक्सल साहित्य व कुछ हथियारों की जप्ती की है. इसमें 80 फीट वायर, 8 जिलेटिन की कडीया, नॉन इलेक्ट्रिक डिटोनेटर, 2 देसी बंदूक, राउंड 2, मेडिसीन बॉक्स, पुरानी पिस्टल वाले 2 शस्त्र, नक्सल डे्रस, इलेक्ट्रिक डिटोनेटर 11, प्रिंटेड सर्किट बोर्ड 2, हरे रंग का गिला विस्फोटक पाउडर 700 ग्राम, पुराने देसी कट्टे 2, राख जैसे रंग का विस्फोटक पाउडर 700 ग्राम आदि साहित्य का समावेश है.

    उल्लेखनीय है कि गढ़माता मंदिर देवस्थान परिसर यह सालेकसा शहर में रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर स्थित है. लेकिन यह परिसर जंगल से घिरा है. इसके बावजूद सालेकसा शहर में बड़ी संख्या में नक्सली विस्फोटक सामग्री मिलने पर आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है.

    सालेकसा पुलिस स्टेशन में अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ भादंवि की धारा 307, 120 सह धारा 13, 18, 20 व 23 भारतीय विस्फोटक पदार्थ कानून 4-5 के तहत मामला दर्ज किया गया है. जांच आमगांव के डीवायएसपी जालिंदर नालकुल कर रहे है. यह कार्रवाई नक्सली विरोधी अभियान दल गोंदिया के पुलिस निरीक्षक अतुल तायडे, सी-60 कमांडो दल गोंदिया, सालेकसा, बीडीडीएस व श्वान दल गोंदिया के अधिकारी व कर्मचारियों ने की है.