Summer 2020 exams finally canceled, demand for Akash Hivarale succeeds

    गोंदिया . स्वास्थ्य विभाग की ओर से श्रेणी क व ड के लिए कुल 6 हजार 205 पदों की भर्ती करने संपूर्ण राज्य में 25 व 26 सितंबर को परीक्षा का आयोजन किया गया था. लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से शुक्रवार को ही रात में 10.30 बजे परीक्षा को कुछ समय के लिए टाल दिए जाने की अचानक घोषणा कर दी गई.

    जिससे परीक्षार्थियों की आशाओं पर पानी फिर गया है. राज्य के लाखों परीक्षार्थियों में राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ भारी असंतोष व्याप्त है. स्वास्थ्य विभाग की क व ड श्रेणी की पदभर्ती के लिए गोंदिया जिले के हजारों युवाओं ने आवेदन किया था.

    इस परीक्षा का आयोजन शनिवार को सुबह 10 बजे किया गया था. इसके लिए परीक्षार्थियों को चंद्रपुर, नागपुर, अमरावती, बीड़ सहित अन्य जिलो के शहरों में सेंटर दिए गए थे. जिससे परीक्षार्थी परीक्षा के एक दिन पहले ही अलग अलग सेंटरों पर पहुंच गए थे. लेकिन एन समय पर परीक्षा रद्द होने से परीक्षार्थियों का समय व पैसे खर्च होने के साथ ही उन्हें मानसिक परेशानी उठानी पड़ी.

    राज्य स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से इस पद भर्ती के लिए क श्रेणी वाली परीक्षा 25 सितंबर को व ड श्रेणी की परीक्षा 26 सितंबर को रखी गई थी. इसी बीच शुक्रवार की रात 10.30 बजे सुचना मिली की दोनों श्रेणियों की परीक्षा को फिलहाल कुछ दिनों के लिए टाल दिया गया है. जिससे लाखों परीक्षार्थियों को बड़ा झटका लगा है. इतना ही नहीं परीक्षार्थियों में तरह तरह की चर्चाएं की जाने लगी थी.

    स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने ट्वीट कर अफवाओं पर विश्वास न करने की बात कहकर परीक्षा का आगामी कुछ दिनों में नियोजन करने की जानकारी दी. इसमें अधिकांश परीक्षार्थी के परीक्षा सेंटर दूसरे शहरों में होने से उन्हें हजारों रु. खर्च कर परीक्षा देने के लिए जाना पड़ा था. जबकि ठीक समय पर परीक्षा ही रद्द हो जाने से उनकी सारी मेहनत पर पानी फिर गया है. इतना ही नहीं निराश परीक्षार्थियों ने शासन के प्रति सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जताई है.

    गलत नियोजन का परिणाम : फुके

    इस संबंध में विधायक परिणय फुके ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही व परीक्षा की जवाबदारी लेने वाली कंपनी के गलत नियोजन से परीक्षार्थी उम्मीदवारों को बिना वजह परेशानी हुई है. इस प्रकरण में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर तत्काल पद भर्ती ली जानी चाहिए.

    मानसिक रूप से परेशानी हुई-ब्रम्हे

    इस संबंध में रामनगर निवासी परीक्षार्थी काजल ब्रम्हे ने बताया कि वह फिलहाल मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हास्पिटल में कार्यरत है. राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग की भर्ती में स्टॉफ नर्स पद के लिए आवेदन किया था. जिसकी परीक्षा के लिए 25 सितंबर को सुबह 10 से 12 बजे तक नागपुर स्थित अंजूमन हायस्कूल एंड जूनियर कालेज में सेंटर दिया गया था. इसके लिए मैने एयर इंडिगो विमान की टिकट 5 हजार 402 रु. में बुक की थी. लेकिन परीक्षा रद्द होने से पैसे पानी में चले गए.

    25 सितंबर को मुंबई के छत्रपती शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट से एयर इंडिगो के विमान से सुबह 5.35 बजे निकलकर नागपुर 7.20 बजे पहुंचने वाली थी. लेकिन मुझे अचानक ही परीक्षा रद्द होने की सुचना मिल गई थी. जिससे मैने अपनी नागपुर की यात्रा टाल दी. यह परीक्षा रद्द होने से लाखों परीक्षार्थियों को आर्थिक व मानसिक रूप से परेशानी उठानी पड़ी है.