Electricity

    देवरी. पंस खंडविकास अधिकारी चंद्रमनी मोडक की अनदेखी अनेक बार सवालों के घेरे में आ चुकी हैं और इस बार फिर से वे चर्चा में है. बताया गया कि पंस के सार्वजनिक निर्माण विभाग के कार्यालय के बिजली के बिल का भुगतान ना होने की वजह से कार्यालय कि बिजली करीब एक महीने पहले से बिजली विभाग द्वारा काट दी गई है.

    बगैर बिजली के कार्यालय का पूरा काम विगत 1 माह से पूरी तरह से ठप्प हो गया है. जिसके चलते घरकुल लाभार्थियों की बकाया राशि के भुगतान सहित , घरकुल निर्माण के सर्वेक्षण, नए घरकुल का अनुमोदन आदि कार्य पुरी तरह से ठप्प हो जाने की वज़ह से नागरिकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

    उमस भरे वातावरण कर्मचारी

    सच्चाई जानने के लिए पंस के सार्वजनिक निर्माण विभाग के कार्यालय का दौरा करने पर भारी गर्मी और उमस भरे वातावरण के बीच निर्माण विभाग के कर्मचारी पसीने में तर-बतर अपनी अपनी कुर्सियों में बैठे नज़र आएं. बिजली के संबंध में सवाल पूछने पर उन्होंने बताया कि चूंकि कार्यालय का अधिकांश कार्य डिजिटल स्वरूप में होता है.

    अतः ग़रीब नागरिकों को हो रही परेशानियों के बावजूद वे बगैर बिजली के कुछ नहीं कर सकते. उन्होंने वर्तमान स्थिति के विषय में खंड विकास अधिकारी को भी अवगत कराया है लेकिन अब तक बिजली बिल का भुगतान नहीं हो सका है. 

    ऑल इज वेल वेल

    पंस खंडविकास अधिकारी चंद्रमनी मोडक से संपर्क करने पर उन्होंने दावा किया कि किसी भी घरकुल लाभार्थी को कोई परेशानी नहीं है और पंस का निर्माण विभाग पूरी क्षमता से काम कर रहा है. हालांकि बकाया बिजली बिल के भुगतान के विषय में सवाल पर उन्होंने आवेश में फोन काट दिया. जिसका अर्थ स्पष्ट है कि खंडविकास अधिकारी कि लापरवाही के चलते निकट भविष्य में भी घरकुल लाभार्थियों को किसी किस्म की राहत मिलने के आसार नहीं मिलने वाला है.