petrol
File Pic

    गोंदिया. पिछले वर्ष भर से सतत पेट्रोल डीजल की दर वृद्धि से माल यातायात के दर बढने पर सभी वस्तुओं के दाम बढ़ गए है. जिससे महंगाई बढने से सर्वसामान्य व्यक्तियों के समक्ष क्या खाए, क्या करें ऐसा प्रश्न निर्माण हो गया है. लेकिन केंद्र सरकार ने टैक्स कम कर पेट्रोल 5 रु. व डीजल 10 रु. सस्ता कर देशवासियों को दिवाली की सौगात दी है.

    जिससे देशवासियों को थोड़ी राहत मिल गई है. इसी में पेट्रोल व डीजल सस्ता होने से अन्य वस्तुओं के भाव कम होंगे क्या ? इसे लेकर अभी भी भ्रम है. क्योंकि सभी माल का यातायात करते समय पेट्रोल डीजल लागत की दर अनुसार किराया भाडा निर्धारित किया जाता है.

    पिछले वर्ष से पेट्रोल डीजल की दर वृद्धि होने से अन्य वस्तुओं पर असर पड़ा है. जिससे सभी वस्तुओं के दाम बढ़े है वहीं अब पेट्रोल डीजल सस्ता होने से माल किराया यातायात दर घटेगी. जिससे अन्य वस्तुओं की दर कम होगी क्या? ऐसा सवाल लोगों के समक्ष खड़ा है.

    पेट्रोल 5 रु. सस्ता

    केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर लगाया जाने वाला टैक्स कम कर दिवाली के दिन 5 रु. घटाया है. जिससे 3 तारीख को 116.82 रु. प्रति लीटर वाला पेट्रोल अब 6 तारीख से 110.99 रु. पर आ गया है. पेट्रोल की दर कम होने से सर्वसामान्य नागरिकों को उसका लाभ मिल रहा है.

    डीजल हो गया 10 रु. सस्ता

    केंद्र सरकार ने पेट्रोल की तरह पर भी 10 रु. घटा दिए है. जिससे 3 तारीख को 105.93 रु. प्रति लीटर वाला डीजल अब 6 नवंबर से 93.76 रु. पर भेजा जा रहा है. इसमें डीजल के रेट कम होने से अन्य वस्तुओं के भाव कम होने पर लोगों की नजरे लगी हुई है.