जिले में अब तक 84 फीसदी धान की रोपाई

    गोंदिया. जिले में इस वर्ष मानसून के मौसम की सामान्य बारिश की तुलना में अब तक 49.7 प्रश. ही बारिश हुई है और पिछले एक सप्ताह से भी जिले में कहीं भी जोरदार बारिश नहीं हुई है. प्रतिदिन कुछ स्थानों पर हल्की से रिमझिम बारिश हो रही है, जबकि आम तौर पर मौसम साफ बना हुआ है.

    जिसके कारण गर्मी व उमस बढ़ती जा रही है. इसके बावजूद किसान धान की रोपाई के काम में जुटे हुए है. जिनके पास सिंचाई के संसाधन है वे उसके पानी से रोपाई का काम पुरा कर रहे है. वहीं अन्य किसान आस-पास के किसानों से पानी लेकर रोपाई जल्द से जल्द निपटा लेने का प्रयास कर रहे है और यह सारी कवायद सिर्फ इस उम्मीद से की जा रही है कि आज नहीं तो कल बारिश अवश्य होगी व उन्हें उनकी मेहनत का फल जरूर मिलेगा.

    जिले में 7 अगस्त तक 1 लाख 77 हजार 726 हेक्टर क्षेत्र में से 1 लाख 50 हजार 71 हेक्टर क्षेत्र में धान की रोपाई का काम पुरा हो चुका है, जो लगभग 84 प्रश. है. इसमें बुआई कर लगाए गए धान के साथ ही आवत्या पद्धती से लगाए गए धान के क्षेत्र का भी समावेश है. तहसीलवार मिली जानकारी के अनुसार गोंदिया तहसील में अब तक 34 हजार 495 हेक्टर क्षेत्र में धान की रोपाई की गई है, जो जिले में सर्वाधिक है.

    उसी प्रकार गोरेगांव में 17 हजार 131, तिरोड़ा में 14 हजार 749, सड़क अर्जुनी में 16 हजार 397, अर्जुनी मोरगांव में 18 हजार 919, आमगांव में 17 हजार 952, सालेकसा में 11 हजार 495 व देवरी तहसील में 18 हजार 934 हेक्टर क्षेत्र में धान की रोपाई की जा चुकी है. 15 अगस्त तक रोपाई का काम लगभग पुरा हो जाने की संभावना है.

    अधीक्षक जिला कृषि अधिकारी गोंदिया के गणेश घोरपडे के अनुसार इस वर्ष जिले में बारिश लगातार नहीं हो रही है. जिसके कारण रोपाई का काम भी अलग- अलग चरणों में पुरा हो रहा है. जिले में अब तक 85 प्रश. रोपाई पुरी हो चुकी है. लेकिन अब बारिश की बहुत आवश्यकता है. बारिश होने पर अगले आठ-दस दिनों में रोपाई का काम पुरा हो सकता है. यदि अगले कुछ दिनों में बारिश नहीं हुई तो रोपाई में देरी हो सकती है. जिसका असर उत्पादन पर भी पडऩे की संभावना है.