Devendra Fadanvis
ANI Photo

    नागपुर. महाराष्ट्र (Maharashtra) में नई सरकार गठन के बाद भाजपा नेता और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Dy CM Devendra Fadnavis) मंगलवार को अपने गृहनगर नागपुर (Nagpur) पहुंचे। जहां भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया गया। इस बीच उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे (CM Eknath Shinde) को एक सफल मुख्यमंत्री बनाना उनकी जिम्मेदारी है। शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने का मेरा प्रस्ताव था।

    नागपुर में मीडिया से बातचीत करते हुए फडणवीस ने कहा, “अगर मैंने अनुरोध किया होता तो मैं मुख्यमंत्री बन सकता था। हमने विचारधारा के लिए शिवसेना को मुख्यमंत्री बनाया… शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने का मेरा प्रस्ताव था..लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने जोर देकर कहा कि अगर मैं इससे बाहर रहा तो सरकार नहीं चलेगी। इसलिए मैंने उनके आदेश पर उप मुख्यमंत्री पद स्वीकार कर लिया।”

    फडणवीस ने नाम लिए बिना पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर हमला किया। उन्होंने कहा कि, “एक व्यक्ति ने महाराष्ट्र की राजनीति की है और राज्य की राजनीति की संस्कृति को खाई में डाल दिया है, आप जानते हैं कि वह व्यक्ति कौन है। उन्हें आत्मचिंतन करना चाहिए।”

    डिप्टी सीएम ने कहा कि, “2019 में भाजपा-शिवसेना को शासनादेश मिला लेकिन जनता का ये शासनादेश चोरी हो गया और कुछ लोगों ने उसे चुराकर सरकार तैयार की और ढाई साल तक ये सरकार भगवान भरोसे चलती रही। भ्रष्टाचार चरम सीमा पर थी, मंत्री जेल जा रहे थे।” उन्होंने कहा, “मैं मुख्यमंत्री नहीं था मुझे इस बात का दुख नहीं था बल्कि दुख इस बात का था कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश जिस रफ्तार से आगे जा रहा था वहां महाराष्ट्र का विकास रुक गया था।”

    बता दें कि नागपुर के हवाई अड्डे से देवेंद्र फडणवीस ने अपने समर्थकों द्वारा आयोजित ‘जल्लोश यात्रा’ (विजय जुलूस) शुरू की। इस दौरान गौर करने वाली बात रही कि यात्रा मार्ग पर लगे होर्डिंग और बैनरों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, नागपुर के सांसद और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और कुछ अन्य नेताओं की तस्वीरें थीं, लेकिन केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की तस्वीर नहीं थी।

    देवेंद्र फडणवीस ने पीएम मोदी और नड्डा को सम्मान देने और उन्हें डिप्टी सीएम बनाने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि उन्होंने पार्टी की आज्ञा का पालन किया और नवगठित शिंदे मंत्रिमंडल में नंबर 2 बनने के लिए सहमत हुए।

    फडणवीस ने शुरू में कहा था कि वह शिंदे सरकार का हिस्सा नहीं होंगे, लेकिन बाद में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के हस्तक्षेप के बाद अपना रुख बदल दिया और डिप्टी सीएम के रूप में शपथ ली। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अगले विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आएगी।