Damage to crops due to heavy rains, meeting of Agriculture Department

    धुलिया. तहसील (Tehsil) के इलाकों में लगातार दो दिनों से भारी बारिश (Heavy Rains) के चलते फसलों (Crops) को नुकसान पहुंचा है। विधायक कुणाल पाटिल (MLA Kunal Patil) खेतों में जा कर फसलों का निरीक्षण किया और किसानों की खेतों पर ही कृषि विभाग (Agriculture Department) के अधिकारियों की बैठक कर तत्काल पंचनामा (Panchnama) करने का निर्देश दिया है। जिससे प्रभावित किसानों को राहत मिल है। विधायक कुणाल पाटिल ने नेर, लोहगढ़, लोंखेड़ी, भडाने फाटा, अकलाद, मोराने, उडाने, गोटाने का दौरा किया और कपास और खरीफ फसलों का निरीक्षण किया।

    पिछले दो दिनों से 11 और 12 सितंबर को धुलिया ग्रामीण विधायक कुणाल पाटिल अधिकारियों और किसानों के साथ धुलिया तहसील में भारी बारिश के कारण क्षतिग्रस्त फसलों का निरीक्षण कर रहे हैं। इससे किसानों की उम्मीदें बढ़ गई हैं और विधायक के दौरे पर किसानों ने संतोष जताया है। पिछले दो सप्ताह से लगातार और मूसलाधार बारिश हर जगह जारी है, जिससे कपास सहित खरीफ फसलों को भारी नुकसान हुआ है। इस बारिश ने किसानों के मुंह से निवाला छीन लिया है। इस स्थिती से किसान कमजोर हो गए हैं। विधायक कुणाल पाटिल ने सीधे किसान के खेतों पर जाकर कृषि विभाग और किसानों के बीच संयुक्त बैठक करने का फैसला किया है। यह किसानों के लिए बहुत बड़ी राहत है।

    पंचनामा बनाने का निर्देश 

    विधायक कुणाल पाटिल ने कहा कि वह पिछले दो दिनों से अधिक बारिश से हुए नुकसान का निरीक्षण कर रहे हैं और इस संबंध में कृषि मंत्री राजस्व मंत्री और मुख्यमंत्री से मुलाकात कर शत-प्रतिशत मुआवजा दिलाने का प्रयास करेंगे। इस बीच विधायक कुणाल पाटिल ने तहसील के कृषि अधिकारी, बोर्ड के कृषि अधिकारी, कृषि सहायक तलाठी को हर किसान के खेत में जाकर नुकसान का पंचनामा बनाने का निर्देश दिया। जिन जगहों पर नुकसान हुआ है वहां पूरे तहसील में नुकसान का पंचनामा चार से पांच दिनों में पूरा कर दिया जाएगा एैसा तहसील कृषी अधिकारी व्ही. आर. प्रकाश ने कहा है।

    सरकार किसानों के साथ 

    राज्य में कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस और शिवसेना की महाविकास अघाड़ी सरकार किसानों का समर्थन कर रही है और हर संकट में किसानों की मदद के लिए तैयार है। इसलिए किसान किसी भी संकट का धैर्यपूर्वक सामना करें। मैं हर संकट में आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ने को तैयार हूं। विधायक कुणाल पाटिल ने कहा कि वह किसानों के हित और उन्हें न्याय दिलाने के लिए सरकार से लड़ने को तैयार हैं।

    अतिवृष्टी नुकसान के निरीक्षण के दौरान विधायक कुणाल पाटील के साथ तहसील कृषी अधिकारी व्ही. आर. प्रकाश, मंडल कृषी अधिकारी पी.जे. पाटील, कृषी पर्यवेक्षक आर. व्ही. बोरसे, कृषी सहाय्यक चेतन शिंदे, कृषी सहाय्यक किरण देवरे और राजस्व और कृषी विभाग के कर्मचारी, जिला कांग्रेस के सचिव डॉ. दरबारसिंग गिरासे, पंचायत समिती के पूर्व सभापती भगवान गर्दे, तहसील कांग्रेस के कार्याध्यक्ष अशोक सुडके, सरपंच गायत्री जयस्वाल, दिलीप बिरारी, नारायण बोढरे, योगेश गवले, बालू आनंदा पाटील, कृऊबा प्रशासक झुलाल पाटील, नेर प.स. सदस्य गणेश जयस्वाल, शरदराव सोनवणे, जगन्नाथ सोनवणे, आनंद पाटील, मांगू मोरे, दिलीप सोनवणे, दिलीप बिरारी, दयाराम पारधी, बलीराम चौधरी, सुरज खलाणे, महेश जयस्वाल, आसाराम जाधव, सतिष बोढरे, मुकुंद साकरे, शरद दादा सोनवणे, सुरज खलाणे, बदरू टेलर, सोमनाथ बागूल, पोपट शिंदे के साथ कई किसान उपस्थित थे।