किसानों से ठगी बर्दाश्त नहीं : दिघावकर

  • लुटेरे व्यापारियों पर होगी कड़ी कार्रवाई

धुलिया. विशेष पुलिस महानिरीक्षक प्रतापराव दिघावकर  (Inspector General of Police Prataprao Dighavkar) ने कहा कि किसानों को धोखा देने वाले व्यापारियों को बख्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसे ठगों के खिलाफ पुलिस ने एक विशेष अभियान शुरू किया है। दिघावकर धुलिया में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उक्त चेतावनी दी।

दिघावकर ने बताया कि नाशिक क्षेत्र में कानून व्यवस्था (Law and order) बनाए रखने और अपराध पर अंकुश लगाने के लिए आने वाले समय में और प्रभावी कदम उठाए जाएंगे।  उन्होंने कहा कि शिक्षित युवाओं को नौकरी का लालच देकर पैसे लूटने वाले, शराब, भांग, चरस, गुटखा जैसी नशीली दवाओं की तस्करी और हथियारों की अवैध बिक्री, मनी लॉन्ड्रिंग गिरोह पर भी नकेल कसने के लिए पुलिस प्रयासरत है। अपराधियों को खुला घूमने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नाशिक सहित धुलिया में ऐसे अपराधियों की शिकायत मिली है, उन पर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

डीआईजी धुलिया का कर रहे दौरा

विशेष पुलिस महानिरीक्षक (DIG) प्रतापराव दीघावकर पिछले दो दिनों से धुलिया जिला पुलिस बल की वार्षिक समीक्षा यात्रा पर हैं। उन्होंने जिले के विभिन्न पुलिस थानों का दौरा किया और कानून एवं सुव्यवस्था का जायजा लिया।उन्होंने आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पत्रकारों से बात की। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक चिन्मय पंडित, अपर पुलिस अधीक्षक प्रशांत बच्छव और प्रशिक्षु पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत उपस्थित थे। 

3 मुख्य मुद्दों को प्राथमिकता

इस अवसर पर महानिरीक्षक दिघावकर ने कहा कि नाशिक रेंज के पुलिस महानिरीक्षक के पद को स्वीकार करने के बाद, मैंने तीन मुख्य मुद्दों पर काम करने की घोषणा की थी।उन व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे जो किसानों से माल लेकर उन्हें चेक देकर पैसों के लिए घुमाते हैं।उन गिरोह के खिलाफ कार्रवाई करेंगे जो सभी पांच जिलों में शिक्षित बेरोजगार युवाओं को नौकरी का झांसा देकर लूटने की कोशिश करते हैं। इसके अलावा  नकली शराब,गांजा,घुटका जैसी नशीली चीजें, अवैध हथियार बेचनेवालों पर नकल कसेंगे। 

धुलिया सहित 5 जिलों में विशेष अभियान

तदनुसार 10 सितंबर से 22 दिसंबर तक, पुलिस बल ने अहमदनगर, जलगांव, नाशिक ग्रामीण, धुलिया और नंदुरबार के 5 जिलों में विशेष अभियान चलाया है।  किसानों को ठगने और उनकी उपज के पैसे डुबानेवाले कुल 191 मामले दर्ज किए गए हैं। इसमें से 199 व्यापारियों से किसानों का पैसा वसूला गया है। 6 करोड़ 75 लाख 88 हजार 98 रुपये किसानों को दिलवाए गए हैं। इसके साथ ही किसानों को लूटने वाले व्यापारियों ने 5 करोड़ 84 लाख 45 हजार 610 रुपये लौटाने की तैयारी दिखाई है। इससे किसानों को 12 करोड़ 60 लाख रुपये वापस मिलेंगे। नौकरी का लालच देकर पढ़े-लिखे बेरोजगार युवाओं को फंसाने की घटनाएं बढ़ी हैं।पैसे देने के बाद भी जब युवाओं को नौकरी नहीं मिलती, तब उन्हें ठगे जाने का एहसास होता है। 

नाशिक के 11 युवकों वापस दिलाया पैसा

नाशिक क्षेत्र में इस तरह के 30 मामले दर्ज किए गए थे। इनमें से 11 मामलों में ठगे गए युवकों को पैसा वापस दिलवाया गया है। ऐसे गिरोह से अब तक 37 लाख 38 हजार रुपये की वसूली की जा चुकी है। धुलिया जिले में ऐसी 11 शिकायतें मिलीं। इसमें से तीन मामले दर्ज किए गए।एक मामले में  समझौता किया गया और 9 लाख 40 हजार रुपये संबंधित बेरोजगार युवक को वापस दिलाया गया।

नशीले पदार्थ को लेकर 23 मामले दर्ज

इसके अलावा, नशीले पदार्थों के खिलाफ विशेष अभियान में, नाशिक क्षेत्र में 23 अपराध दर्ज किए गए थे। पुलिस ने 520 किलोग्राम भांग और 271 किलोग्राम भांग के पौधों को जब्त किया। कुल 68 लाख 37 हजार की भांग जब्त की गई है। इसी प्रकार, 65 मामले दर्ज किए गए और 86 आरोपियों को प्रतिबंधित गुटखा, सुगंधित तंबाकू और मसालों की अवैध बिक्री और बिक्री के लिए गिरफ्तार किया गया। 4 करोड़ 3 लाख 14 हजार 490 रुपये का गुटखा जब्त किया गया। जुआ, सट्टा खेलने वाले, देशी और विदेशी शराब की अवैध बिक्री पर भी शिकंजा कसा गया है। करीब 1 करोड़ 99 लाख रुपए की अवैध शराब जब्त की गई।अवैध शराब की 4 फैक्ट्रियों को भी ध्वस्त किया गया। ऐसी भी जानकारी पुलिस महानिरीक्षक दिघावकर ने ही दी।