Heavy rains disrupted life of Bhusaval residents, flood situation in river drains

    भुसावल. शहर (City) और उससे सटे तहसील यावल और बोदवड़ (Bodvad) मे मूसलाधार बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। तहसील (Tehsil) के विभिन्न हिस्सों में गरज (Thunderstorms) के साथ भारी बारिश हुई। शुरुआती अनुमान बताते हैं कि बारिश के कारण कई इलाकों में खरीफ की फसल (Kharif Crop) को काफी नुकसान पहुंचा है। शहर सहित तहसील में तड़के बुधवार रात तीन बजे से भारी बारिश हुई है। 

    सितंबर के महीने में भुसावल तहसील में बारिश ने जोरदार वापसी कर अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई। बुधवार की आधी रात से बारिश शुरू हुई थी। मूसलाधार बारिश के साथ दिन भर बारिश जारी रही। कई कहलू और टीन के मकानों के घरों से छत टपकने की खबरे सामने आई है। शहर के कई इलाकों में पानी जमा हो गया। शहर की सभी सड़को में बड़े बड़े गढ्ढे होने के कारण सभी सड़को ने तालाब का रूप धारण कर लिया है।

    शहर की सड़कों पर जल जमाव

    मिल्लत नगर, आठवडे बाजार, मुस्लिम कॉलोनी, खड़का रोड, काज़ी प्लॉट, विवेकानंद नगर, नेमाड़े कॉलोनी, रामदास वाडी, गडकरी नगर, दत्ता नगर, जिया कॉलोनी, जामनेर रोड, जलगांव रोड, वरणगांव रोड, जाम मोहल्ला परिसर प्रभावित रहा। सड़कें उबड़-खाबड़ होने के कारण वाहन चालकों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। लगातार बारिश के कारण शहर की सड़कों पर जल जमाव हो गया था जिसके कारण लोगों का घर से निकलना दूभर हो गया था। बारिश के चलते जगह-जगह जल जमाव हो गया है। जल जमाव के कारण दो पहिया वाहन चालकों, पैदल चलने वालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सड़क के गड्ढों में पानी जमा हो गया है।

    फसलों को काफी नुकसान हुआ

    उधर बोदवड़ तालुका में मुसलधर बारिश के कारण कई इलाके में भारी पानी जमा होने के कारण नाले और नालिया आपने उफान पर बह रही थी। जलजमाव के कारण खेतों को काफी नुकसान पहुंचा है। तालुका के सुरवाडे में भारी बारिश हुई, जिसके कारण क्षेत्र के किसानों का कहना है की खेतों में कपास और मक्का की फसल पूर्ण रूप से गिर गई है। बारिश के कारण फसलों को काफी नुकसान हुआ है। किसान का कहना है के तेज हवा और बारिश के कारण इलाको की फसले जमीन पर सो गई है।