Necessary measures should be planned for the security of food grains: Chhagan Bhujbal

    धुलिया. राशन कार्ड (Ration Card) धारक (Holder) के हर परिवार (Family) को अच्छी गुणवत्ता वाले अनाज की आपूर्ती हो, एैसा नियोजन आपूर्ती विभाग को करना होगा। अनाज भंडारण के लिए उपयोग किए जाने वाले गोदामों की सुरक्षा जांच करके आवश्यक उपाय योजना की जाए। यह एैसे निर्देश राज्य के अन्न नागरी आपूर्ती और ग्राहक संरक्षण मंत्री छगन भुजबल ने आपूर्ती विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान कही। इस अवसर पर जिला अधिकारी जलज शर्मा, जिला आपूर्ती अधिकारी रमेश मिसाल, तहसीलदार साहेबराव सोनवणे आदी के साथ विविध विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

    मंत्री भुजबल ने कहा कि कोरोना विषाणु के कारण लॉकडाऊन के दिनों में आपूर्ती विभाग ने उत्कृष्ट काम किया है। राज्य में 54 हजार स्वस्त धान्य दुकानें हैं। इन दुकानों के माध्यम से गरीब नागरिकों को धान्य की आपूर्ती की जाती है। इसलिए सस्ता अनाज अच्छी क्वालिटी का दिया जाना चाहिए। इसके लिए आपूर्ती विभाग को सावधान रहना होगा। गोदामों को स्वच्छ रखना होगा। गोदामों पर मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराऐं। स्वस्त धान्य दुकानों के लाईसेन्स देते हुए दिव्यांग, महिला बचत गट, महिलांओं को प्राधान्य दें। कुछ राशन कार्ड धारक नियमित रुप से सस्ते अनाज की दुकानों में अनाज नहीं खरीदते एैसे राशन कार्ड धारकों को ढूंढा जाए।

    शिवभोजन केंद्र के माध्यम से जरुरतमंदों को अच्छी क्वालिटी का भोजन दिया जाए। इसके लिए आपूर्ती विभाग के अधिकारी शिवभोजन केंद्रों का दौरा करते रहें और भोजन की गुणवत्ता की जांच करते रहें।  जिला अधिकारी जलज शर्मा ने कहा कि धुलिया जिले में 981 सस्ते अनाज की दुकानें हैं। अंत्योदय के 77 हजार 181, प्राधान्य परिवार लाभार्थी 2 लाख 16 हजार 297, केशरी कार्ड धारकों की संख्या 1 लाख 29 हजार 177 है। इस के अलावा श्वेत कार्ड धारकों की संख्या 17 हजार 393 है। धुलिया जिले में सरकारी गोदामों की संख्या 17 है। पिंपलनेर में गोदाम की मरम्मत के लिए कोटेशन पेश किया गया है। दोंडाईचा में गोदाम के सुधार के लिए प्रस्ताव मंगाए गए हैं। शिवभोजन केंद्रों की संख्या 28  है। रोज 3800 थालियों जरुरतमंदों में वितरित की जाती है। एैसा खुलासा बैठक में जिला अधिकारी शर्मा ने किया।