Stay alert on the banks of Girna river: Abhijit Raut

    जलगांव.  गिरणा नदी (Girna River) पर बना गिरणा बांध (Girna Dam)गुरुवार की सुबह 11 बजे तक 90 फीसदी तक भर चुका है।  साथ ही बांध क्षेत्र में तेजी से बाढ़ के पानी के कारण बांध के भरने की संभावना को देखते हुए दोपहर गिरणा बांध से 25 हजार क्यूसेक पानी नदियों में छोड़ा गया है। 

    ऐसी जानकारी गिरणा सिंचाई विभाग (Girna Irrigation Department) के कार्यपालक अभियंता (Executive Engineer) अग्रवाल ने दी है।  इस पृष्ठभूमि में, गिरणा नदी के किनारे रहने वाले नागरिकों (Citizens) को सतर्क रहने की जिला कलेक्टर (District Collector) अभिजीत राऊत (Abhijit Raut) ने अपील की है। गिरणा नदी के उद्गम क्षेत्र में भारी बारिश हो रही है। 

    बांध पूरी तरह से भर चुका है

    नतीजतन, नदी बेसिन में पानी का प्रवाह बढ़ गया है। गुरुवार की सुबह 11 बजे तक गिरणा बांध 90 प्रतिशत भर चुका है। बांध क्षेत्र में बाढ़ के पानी के कारण दोपहर तक बांध पूरी तरह से भर चुका है। इसी पृष्ठभूमि में आज दोपहर गिरणा बांध से गिरणा नदी बेसिन में 25,000 से 30,000 क्यूसेक की गति से पानी छोड़ा गया है। वहीं, मन्याड बांध से गिरणा नदी में 19 हजार क्यूसेक की रफ्तार से पानी बह रहा है। इस पृष्ठभूमि में गिरणा नदी के किनारे बसे गांवों के निवासियों को सतर्क रहने की जरुरत है। नागरिक नदी में न जाएं और अपने जानवरों को भी नदी के पास न जाने दें। एैसा आवाहन जिला अधिकारी राऊत, कार्यकारी अभियंता अग्रवाल, उपविभागीय अभियंता हेमंत पाटील, शाख अभियंता एस.आर. पाटील ने किया है।