Deputy Chief Minister Ajit Pawar and Mr. Chhatrapati Shahu Maharaj met, the issue of Maratha reservation was discussed in the meeting

    कोल्हापुर. महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Deputy Chief Minister Ajit Pawar) ने कोल्हापुर (kolhapur) के न्यू पैलेस में जाकर श्रीमंत छत्रपति शाहू महाराज से मुलाकात की, उनकी एक घंटे की बैठक में मराठा आरक्षण (Maratha Reservation) के मुद्दे पर भी खासकर चर्चा हुई। सांसद संभाजीराजे छत्रपति 16 जून को मराठा आरक्षण के लिए फिर से आंदोलन करने वाले हैं। उनके इस आंदोलन की धार को कम करने के उद्देश्य से आज की यह मुलाकात है, ऐसा जानकारों का कहना है। मराठा आरक्षण के मुद्दे को लेकर राज्य में वातावरण गर्म हो रहा है इसीलिए अजीत पवार-श्रीमंत शाहू महाराज की इस मुलाकात की तरफ सभी का ध्यान आकर्षित हुआ था।  

    बैठक के खत्म होते ही श्रीमंत छत्रपती शाहू महाराज ने मीडिया से बातचीत की, जहां उन्होंने बताया कि ठाकरे सरकार मराठा आरक्षण के बारे में सकारात्मक है। कुल एक घंटे तक हम आरक्षण के अलावा अन्य विषयों पर भी बातचीत करते रहे ऐसा बताकर मराठा आरक्षण मुद्दे पर क्या चर्चा हुई इसकी जानकारी उपमुख्यमंत्री अजीत पवार मीडिया को देंगे ऐसा उन्होंने बताया। राज्य सरकार मराठा समाज के लिए जो-जो करना चाहती है वो करें। ऐसी सलाह श्रीमंत शाहू महाराज ने अजीत पवार को दी है, ऐसा शाहू महाराज ने बताया। 

    मराठा आरक्षण के बारे में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अध्ययन करने की जरूरत है। इस फैसले के अंग्रेजी पन्नों का मराठी में भाषांतर कर उसे समझना चाहिए  और फिर जो सही है वह सभी करना चाहिए। मराठा आरक्षण की अन्य मांगों की ओर भी राज्य सरकार ध्यान देगी, आंदोलन के बारे में इस मुलाकात में कोई चर्चा नहीं हुई ऐसा खुलासा भी श्रीमंत शाहू महाराजने किया। मराठा समाज को सक्षम बनकर अपने पैरों पर खड़ा रहना चाहिए। ऐसा बताकर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का जिस किसी ने अध्ययन नहीं किया हो, तो उनको यह अध्ययन करना चाहिए और कोर्ट का अवमानना भी न हो ऐसा बर्ताव किया जाए ऐसा शाहू महाराज ने सूचित किया।

    केंद्र सरकार अगर आरक्षण के मुद्दे पर ध्यान देती है तो कानून में बदलाव लाकर आगे कदम बढ़ाया जा सकता है। यह बात इससे पहले भी कही थी ऐसा शाहू महाराज ने बताया। कानून में क्या हो और क्या नहीं इस बात से मैं वाकिब नहीं ऐसा बताकर मराठों को आरक्षण देने के लिए ज्यादा से ज्यादा काम करने के लिए ठाकरे सरकार सकारात्मक है, लेकिन अगर तुम चांद और सूरज मांगोगे तो कैसे लाकर देंगे, ऐसा अहम सवाल भी शाहु महाराज ने पूछा। बैठक में पूर्व विधायक  मालोजीराजे छत्रपति, इंद्रजीत सावंत एवं मराठा महासंघ के वसंतराव मुलिक मौजूद थे।