Hasan Mushrif

    कोल्हापुर. राज्य के ग्रामविकास मंत्री हसन मुश्रीफ (Hasan Mushrif) ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं विपक्ष नेता देवेंद्र  फडणवीस (Devendra Fadnavis) को आनेवाले दस वर्षों में ‘मी पुन्हा येईन’ के सपने देखने की जरूरत नहीं है ऐसी सलाह दी है। उन्होंने कहा कि आगे के साढे़ तीन वर्ष ही नहीं, बल्कि आने वाले दस वर्षों में भी फडणवीस महाविकास आघाडी का करेक्ट कार्यक्रम नहीं कर सकेंगे। महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना (Corona) का संक्रमण अब कम हुआ है, इसलिए फडणवीस को गोवा सरकार टास्क फोर्स का अध्यक्ष नियुक्त करें। ऐसी मांग भी उन्होंने की। मंत्री मुश्रिफ कोल्हापुर में आयोजित एक पत्रकार परिषद में संबोधित कर रहे थे।

    मंत्री नवाब मलिक के बाद राज्य में भाजपा नेताओं के आरोपों का पलटवार करने में एनसीपी के नेता और ग्राम विकास मंत्री हसन मुश्रीफ हमेशा आगे रहे हैं। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल कोल्हापुर से हैं, इसीलिए मंत्री मुश्रिफ चाहे कोल्हापुर में हो या मुंबई में, भाजपा नेताओं के आरोपों का खंडन करने के लिए मुश्रिफ कड़ा हमला करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं और चर्चा में भी बने रहते हैं। ग्रामविकास मंत्री मुश्रिफ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में  गुजरात का दौरा किया, लेकिन वहां से आगे कोंकण और केरल में भी आ जाते तो अच्छा होता क्योंकि वे प्रधानमंत्री केवल गुजरात के नहीं, पूरे हिंदुस्तान के हैं, लेकिन उनके बर्ताव में यह बात दिखाई नहीं देती।

    भाजपा नेताओं का मानसिक संतुलन बिगड़ा

    दो दिन पूर्व आए चक्रवाती तूफान में समंदर में फंसे कई लोगों  को जान गंवानी पड़ी, इस पर उन शिपिंग कंपनियों पर  मनुष्यवध का मामला दर्ज करने की मांग मंत्री नवाब मलिक ने की थी। जिस पर भाजपा प्रवक्ता अतुल भातखलकर ने टिप्पणी करते हुए नवाब मलिक का मानसिक संतुलन बिगड़ ने की बात कही थी। इस पर मंत्री मुश्रिफ ने कहा कि भातखलकर को ऐसी बात कहते हुए शर्म आनी चाहिए। भातखलकर क्या इन कंपनियों के एजेंट है या उनके वकील?  भाजपा की सत्ता जाने से  इस पार्टी के कई नेताओं का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है।

    देश में शरद पवार नाम का रूतबा कायम 

    मुश्रिफ ने कहा कि देश में शरद पवार के नाम का रुतबा अभी भी कायम है, ऐसा बताकर, केंद्र सरकार ने खाद के दामों में भारी वृद्धि की। लेकिन इस वृद्धि को पीछे लेने की मांग करनेवाला पत्र केंद्र सरकार को लिखते ही सरकार ने खाद के दामों की वृद्धि पर एक ही दिन में रोक लगाई। इस बात से दिल्ली में शरद पवार के नाम का रूतबा ध्यान में आता है। मुश्रिफ ने कहा कि मराठा आरक्षण के बारे में सांसद संभाजीराजे को संतुष्ट करने के प्रयास महाविकास आघाडी की ओर से किए जाएंगे ऐसा आश्वासन भी उन्होंने दिया।

    मरीजों की अधिक मृत्यु होने वाले अस्पतालों का फिर से ऑडिट करने की मांग  

    मंत्री मुश्रिफ ने कहा कि निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों की मृत्यू बड़े पैमाने पर हो रही है। कई अस्पतालों में पैसा कमाने के फंडे इस्तेमाल किए जा रहे हैं, ऐसी शिकायतें मिल रही हैं। इलाज के लिए ठीक समय पर मरीज भर्ती होने पर भी मरने वालों की संख्या अधिक है। इसलिए ऐसे अस्पतालों का फिर से ऑडिट किया जाए यह मांग की जाएगी।