Police inspector stricken with superiors attempted suicide

    कोल्हापुर. कोल्हापुर पुलिस (Kolhapur Police) दल में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के गलत बर्ताव से तंग आकर पेठ वडगांव तहसील हातकणंगले से तीन महीनों पहले कोल्हापुर हवाई अड्डे (Kolhapur Airport) पर सुरक्षा अधिकारी के पद पर नियुक्त किए गए पुलिस निरीक्षक प्रदीप काले ने नींद की गोलियों (Sleeping Pills) का सेवन करते हुए वारणा नदी के पात्र में कूदकर खुदकुशी (Suicide) करने का प्रयास किया, लेकिन इस निर्णय से पूर्व उन्होंने अधिकारियों के वाट्सएप ग्रुप पर वरिष्ठ अधिकारियों के गलत बर्ताव से तंग आकर खुदकुशी करने का निर्णय लिया है, इस प्रकार का मैसेज शेअर किया। जिससे अन्य पुलिस अधिकारी कांप उठे। 

    तत्काल पुलिस निरीक्षक प्रदीप काले को ढूंढने के लिए कार्य शुरू किया। तभी मोबाइल लोकेशन से प्रदीप काले वारणा नदी के पात्र के करीब पाए गए। जब तक पुलिस अधिकारी वहां पहुंची तब तक प्रदीप काले ने नींद की गोलियों के नशे में आकर नदी में कूद गए और वे बेहोश हो गए। नदी किनारे मौजूद लोगों ने उन्हें बेहोशी की हालत में नदी से बाहर निकाला और कसबा बावडा स्थित सेवा अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें कोल्हापुर के बड़े निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है और उन पर इलाज किया जा रहा हैं।

    निजी अस्पताल में चल रहा इलाज

    घटनास्थल से मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस निरीक्षक प्रदीप काले कोल्हापुर जिले के पेठवडगांव पुलिस थाने में कार्यरत थे। तीन महीने पूर्व कर्तव्य में कसूर करने का कारण देते हुए उनका ट्रांसफर  उजलाईवाडी हवाई अड्डे पर  सुरक्षा अधिकारी के पद पर कर दिया गया। इस घटना के बाद पुलिस निरीक्षक प्रदीप काले का मानसिक संतुलन बिगड़ गया था। वे भारी तनाव का सामना कर रहे थे। बुधवार की सुबह काले ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से तंग आकर खुदकुशी करने जा रहे हैं, ऐसा मैसेज कोल्हापुर जिले के पुलिस अधिकारियों के वाट्स एप ग्रुप पर शेअर किया। इस मैसेज को पढ़ते ही अधिकारी घबरा गए। उन्होंने  प्रदीप काले के मोबाइल पर कांटेक्ट करने का प्रयास किया, लेकिन उनका मोबाइल स्विच ऑफ था। उन्हें ढूंढने के लिए उनके मोबाइल का लोकेशन ट्रेस किया गया तो प्रदीप काले वारना नदी के करीब पाए गए। पुलिस अधिकारी वहां पहुंचने से पहले ही  पुलिस निरीक्षक प्रदीप काले ने नदी में कूद कर अपनी जान देने की कोशिश की, लेकिन वहां मौजूद लोगों ने उनकी जान बचाई । नींद की गोलियों का अतिसेवन किए जाने का रिपोर्ट उनके मेडिकल जांच में सामने आया है। इस घटना से कोल्हापुर पुलिस दल में हड़कंप मच गया है। पुलिस निरीक्षक  काले अभी बेहोशी की स्थिति में हैं। इसलिए उनका कोई स्टेटमेंट नहीं लिया गया है।