anil parab
File Pic

    नई दिल्ली/मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) कि राजधानी मुंबई की एक खबर के मुताबिक, ED ईडी ने अब मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering Case) मामले में सदानंद कदम (Sadanand Kadam) को भी समन भेजा है। बता दें कि, सदानंद कदम महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और शिवसेना (उद्धव) नेता अनिल परब (Anil Parab) के करीबी सहयोगी भी हैं।

    गौरतलब है कि बीते जून में,महाराष्ट्र के पूर्व परिवहन मंत्री अनिल परब से छह घंटे से 10 घंटे से अधिक समय तक तीन दिनों तक कड़ी पूछताछ की थी। यह मामला दरअसल महाराष्ट्र के रत्नागिरि जिले के दापोली इलाके के एक रिजॉर्ट के निर्माण में तटीय विनियमन क्षेत्र के प्रावधानों के कथित उल्लंघन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग का है।

     

    इस मामले पर ED ने राज्य के पूर्व परिवहन मंत्री अनिल परब को बीते 15 जून को मुंबई में पूछताछ के लिए तलब किया था। ईडी ने परब को भेजे समन में कहा था कि वह मनी लॉन्ड्रिंग रोधी कानून के तहत उनसे  पूछताछ कर बयान दर्ज करना चाहती है। बता दें कि, दापोली में परब द्वारा बनाए गए अवैध रिजॉर्ट को लेकर पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने अधिकारियों से कई बार अनेकों शिकायतें की थीं। 

    वहीं बीते मार्च में आयकर विभाग ने इस सिलसिले में छापेमारी भी की थी। जिसमें विभाग को कुछ कागजात मिले थे। इसके मुताबिक परब ने दापोली में 2017 में एक करोड़ रुपये में एक जमीन खरीदी थी।

    इसके बाद 2019 में रजिस्टर हुई जमीन 2020 में 1।10 करोड़ रुपये में सदानंद कदम को बेच दी गई थी। जबकि आयकर का अनुमान है कि रिजॉर्ट बनाने में ही करीब 6 करोड़ खर्च हुए थे। ED इसके पहले शिवसेना के नेता सदानंद कदम और संजय कदम से भी पूछताछ कर चुकी है। बता दें कि, कदम शिवसेना के पूर्व सांसद रामदास कदम के भाई हैं।