...then BJP will break the lock of temples, BJP President Chandrakant Patil warned

    मुंबई: महाराष्ट्र के राज्यपाल बीएस कोश्यारी और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के दरम्यान महिलाओं के खिलाफ अपराधों के मुद्दे पर चल रहे पत्र युद्ध के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राज्य इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने बुधवार को कहा कि मुख्यमंत्री को राज्यपाल पद का सम्मान करना चाहिए।     

    कोश्यारी ने कुछ दिन पहले साकीनाका बलात्कार-हत्या मामले की पृष्ठभूमि में ठाकरे को पत्र लिखकर राज्य विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने के लिए कहा था। सोमवार को मुख्यमंत्री ने पलटवार करते हुए कहा कि राज्यपाल को महिलाओं की सुरक्षा और उन पर बढ़ते हमलों के संबंध में चर्चा के लिए केंद्र से संसद का सत्र बुलाने का अनुरोध करना चाहिए।  

    ठाकरे ने राज्यपाल कोश्यारी को लिखे पत्र में उनके गृह राज्य उत्तराखंड सहित भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं के खिलाफ हुए अपराधों के आंकड़े दिए। ठाकरे ने कहा कि राज्यपाल द्वारा इस तरह के ”निर्देश” देना एक नया विवाद पैदा कर सकता है और यह लोकतांत्रिक संसदीय प्रक्रियाओं के लिए हानिकारक हैं।     

    भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पाटिल ने बुधवार को कहा, ”मुख्यमंत्री ठाकरे को राज्यपाल के संवैधानिक पद का सम्मान करना चाहिए। उन्हें दूसरे राज्यों पर उंगली उठाने के बजाय यहां की स्थिति को सुधारने पर ध्यान देना चाहिए।”  इस महीने की शुरुआत में मुंबई के साकीनाका इलाके में सड़क किनारे खड़े एक टेंपो में 34 वर्षीय एक महिला के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया गया था। 45 वर्षीय आरोपी ने पीड़िता के गुप्तांग में रॉड डाल दी थी। अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। (एजेंसी)