Uddhav Thackeray
File Pic

    मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना (Maharashtra Corona Updates) का प्रकोप खत्म नहीं हुआ है। एक बार फिर कोविड (COVID-19) के नए मामले बढ़ने से चिंता बढ़ गई है। इसी बीच एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना भीड़ के बीच काफी ताकतवर है। ऐसे में अगर लोगों ने जल्द ही सबक नहीं लिया तो आगे दिक्कतें बढ़ सकती है। महाराष्ट्र और दिल्ली में खासकर भीड़ के दौरान लोगों नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। यही कारण है कि यहां कोरोना की नई लहर सबसे पहले दिखाई दे सकती है। 

    ज्ञात हो कि महाराष्ट्र के कई इलाकों से ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं जहां लोगों नियमों का उल्लंघन करते दिखाई पड़े हैं। साथ ही सूबे में कोरोना के नए मामले बढ़ने के चलते सरकार की चिंता बढ़ गई है। यही कारण है कि हो सकता है कि उद्धव सरकार कोई बड़ा फैसला जल्द ले ले। जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. चंद्रकांत लहारिया के हवाले से अमर उजाला ने लिखा कि दिल्ली में पहले ही कोरोना को लेकर अलग रणनीति बनाई गई है। क्योंकि एक साथ सब कुछ खोलना घातक हो सकता है।  

    वहीं इससे पहले महाराष्ट्र में कोरोना के 8 हजार 418 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 171 लोगों की मौत हुई है। कोविड के नए मामले बढ़ गए हैं क्योंकि सोमवार को 6 हजार 740 केस दर्ज हुए थे। साथ ही 51 लोगों की जान गई थी। वैसे राज्य की उद्धव सरकार पहले ही नए मामलों और खासकर डेल्टा प्लस वेरिएंट के मद्देनजर अलर्ट मोड़ पर है। 

    देश के अन्य राज्यों में मामले धीमे पड़े हैं लेकिन महाराष्ट्र में केस बढ़ने से चिंता बढ़ गई है। हालांकि मुंबई में कोविड के मामले कम जरूर हुए हैं। मुंबई में 455 नए केस सामने आए हैं। साथ ही 10 लोगों की जान गई है। मुंबई में मौजूदा समय में 7 हजार 908 नए कोरोना के एक्टिव केस हैं।