raj thackeray

    मुंबई: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के नेता बाला नंदगांवकर ने राज ठाकरे (MNS Chief Raj Thackeray) को मिले धमकी भरे एक पत्र के मद्देनजर महाराष्ट्र (Maharashtra Politics) के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल (Dilip Walse Patil) से बुधवार को मुलाकात की और इस संबंध में कार्रवाई किए जाने की मांग की। नंदगांवकर ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि यदि मनसे प्रमुख को कोई नुकसान पहुंचा, तो राज्यभर में इसके परिणाम दिखेंगे। इस बीच, मुंबई पुलिस ने गुमनाम पत्र के संबंध में एक मामला दर्ज किया। 

    नंदगांवकर ने कहा कि ठाकरे के कार्यालय को एक पत्र मिला, जो हिंदी में लिखा है और इसमें उर्दू के कुछ शब्द शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इस पत्र में ठाकरे की इस चेतावनी का जिक्र किया गया है कि यदि ‘अजान’ के लिए लाउडस्पीकर का इस्तेमाल जारी रखा गया, तो मस्जिदों के सामने हनुमान चालीसा बजायी जाएगी। 

    नंदगांवकर ने कहा, ‘‘गृह मंत्री ने कहा है कि वह पुलिस आयुक्त से बात करेंगे। अब वे आवश्यक कदम उठाएंगे, लेकिन यदि राज ठाकरे को तनिक भी नुकसान पहुंचा, तो महाराष्ट्र जलेगा। राज्य सरकार को इस बात का संज्ञान लेना चाहिए।” उन्होंने बताया कि उन्होंने इस पत्र के मद्देनजर मुंबई पुलिस आयुक्त संजय पांडे से मंगलवार को मुलाकात की थी। 

    नंदगांवकर ने कहा कि वह मनसे प्रमुख और उनके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराए जाने की मांग करते रहे हैं, लेकिन राज्य सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इसका संज्ञान लेना चाहिए। इस बीच,एक अधिकारी ने बताया कि पत्र के संबंध में कालाचौकी थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 507 के तहत अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ एक गैर-संज्ञेय अपराध दर्ज किया गया है।

    उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। राज ठाकरे ने पिछले महीने चेतावनी दी थी कि राज्य में मस्जिदों से चार मई तक लाउडस्पीकर हटा दिए जाएं।