Landslide in Maharashtra 02
PTI Photo

    अलीबाग: महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के सौ से अधिक गांव में भूस्खलन का खतरा बरकरार है और पिछले सप्ताह आई बाढ़ के दौरान महाड में कुछ जगहों पर पानी का स्तर 25 फुट तक पहुंच गया था। स्थानीय निवासियों और अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

    स्थानीय निवासियों ने कहा कि महाड में कुछ जगहों पर पानी 25 फुट तक पहुंच गया था और कई एक मंजिला इमारतें जलमग्न हो गई थीं, जो कि हाल के वर्षों में नहीं देखा गया। उन्होंने बताया कि अतीत में भी महाड में बाढ़ आई लेकिन पानी का स्तर 12 फुट से ज्यादा नहीं पहुंचा।

    पिछले सप्ताह 24 घंटे के दौरान सतारा जिले के महाबलेश्वर में 530 मिलीमीटर वर्षा हुई। इसके अलावा महाड में 383 मिलीमीटर और पोलादपुर में 575 मिलीमीटर बारिश हुई। इसी दौरान तटीय कोंकण क्षेत्र में स्थित रायगढ़ में बाढ़ से भयानक स्थिति उत्पन्न हो गई थी।

    महाड के वरिष्ठ नागरिकों और व्यापारियों ने मुंबई-गोवा सड़क पर बने नए पुल को भी बाढ़ के लिए जिम्मेदार ठहराया और कहा कि इस पुल के कारण बारिश के पानी को निकलने का रास्ता नहीं मिला। रायगढ़ की जिलाधिकारी निधि चौधरी के कार्यालय से प्राप्त आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जिले के 103 गांवों पर भूस्खलन का खतरा मंडरा रहा है। (एजेंसी)