Eknath Shinde and Sanjay Raut
Pic: Twitter

    नई दिल्ली. जहाँ एक तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) का गुट फिलहाल बाढ़ग्रस्त असम (Assam) के गुवाहाटी (Guwahati) शहर में अपने डेरा डाले हुए है। वहीं सियासत और सम्मान के इस घमासान के बीच आज शिवसेना के मुखपत्र सामना में बागी विधायकों को लेकर एक विवादित टिप्पणी की गयी है। 

    दरअसल आज एकनाथ शिंदे गुट के बगावत के 7वें दिन शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए एक बड़ा हमला बोला है। आज सामना (Saamna) के संपादकीय में शिंदे गुट को नचनिया कहा गया है। तो वहींशिवसेना के विधायक उदयसिंह राजपूत ने यह भी दावा किया है कि शिंदे गुट में जाने के लिए उन्हें करीब  50 करोड़ रुपये देने का ऑफर दिया गया।

    आज सामना में छपे एक लेख में लिखा गया कि, जिन 15 विधायकों को केंद्र की ओर से सुरक्षा दी गई है, वो लोकतंत्र के रखवाले नहीं है। ये लोग 50-50 करोड़ रुपयों में बेचे गए बैल अथवा ‘बिग बुल’ हैं, जो लोकतंत्र के लिए अब एक बहुत कलंक है। वहीं फडणवीस और शिंदे के मुलाकात पर भी आज जमकर निशाना साधा गया है। इस तरह आज शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना से जरिए बीजेपी पर होर्स ट्रेडिंग का सीधा-सीधा आरोप लगाया है।

    बता दें कि आज सूत्रों के अनुसार एकनाथ शिंदे कैंप के विधायक गुवाहाटी के होटेल में एक मीटिंग करने वाले हैं। वहीं इस मीटिंग में एकनाथ शिंदे समेत सभी विधायक होंगे। यह सभी विधायक साथ में बैठकर SC में हो रही सुनवाई पर भी नज़र रखेंगे।

    वहीँ आज  एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) कैंप की लंबित दो याचिकाओं पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई है। इस बाबत आज सुप्रीम कोर्ट में एकनाथ शिंदे का पक्ष हरीश साल्वे रखेंगे जबकि शिवसेना (Shiv Sena) के लिए सुप्रीम कोर्ट में अभिषेक मनु सिंघवी अपनी दलील रखेंगे। वहीं महाराष्ट्र के डिप्टी स्पीकर के लिए कपिल सिब्बल पेश होंगे।