टीके का पहला डोज 100 प्रतिशत, दूसरे डोज को तेज करने में लगी बीएमसी

    मुंबई:  कोरोना संक्रमण (Corona Infection) फैलने से रोकने के लिए मुंबई (Mumbai) में 92 लाख 36 हजार 500 पात्र नागरिकों को वैक्सीन (Vaccine) की दोनों खुराक (Both Doses) दी जानी है। जिसमें से 92 लाख 21 हजार 45 लाभार्थियों को शुक्रवार शाम तक टीके की पहली खुराक (First Dose) दी जा चुकी है। दिए गए लक्ष्य को पूरा करने के लिए बीएमसी (BMC)  को 15 हजार 455 नागरिकों का टीकाकरण (Vaccination) करने की जरूरत थी। बीएमसी अधिकारी ने बताया कि पहले डोज को 100 प्रतिशत शुक्रवार रात को पूरा कर लिया गया। अब जिन नागरिकों को कोरोना की दूसरी डोज नहीं मिली है बीएमसी उसे तेज करने पर ध्यान केंद्रित करेगी।

    पिछले साल मार्च में मुंबई में कोरोना का पहला मरीज मिला था। तब से पिछले डेढ़ साल में कोरोना की दो लहरें आईं और गईं। कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान में 18 वर्ष से अधिक आयु के पात्र लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है। मुंबई में 13 मिलियन से ज्यादा लोग रहते हैं। कोविड टास्क फोर्स और सरकार ने 18 वर्ष से अधिक आयु के 92 लाख 36 हजार 500 पात्र नागरिकों को वैक्सीन की दोनों खुराक देने का लक्ष्य रखा है।

    63 प्रतिशत नागरिकों को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी 

    मुंबई में गुरुवार शाम तक कुल 1 करोड़ 51 लाख 35 हजार 273 लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा चुका है। दी गई कुल खुराक में से 92 लाख 21 हजार 45 लाभार्थियों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है। 59 लाख 14 हजार 228 लाभार्थियों को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है। अब तक 99 प्रतिशत नागरिकों को पहला डोल लगाया जा चुका है। 63 प्रतिशत नागरिकों को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है। कुल टीकाकरण में से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के 91 लाख 4 हजार 347 लाभार्थी, 45 से 60 वर्ष आयु वर्ग के 38 लाख 45 हजार 56 लाभार्थी और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 21 लाख 85 हजार 870 लाभार्थियों ने टीका लिया है। अब तक 88 लाख 30 हजार 156 पुरुषों और 63 लाख 1 हजार 379 महिलाओं का टीकाकरण किया जा चुका है। देर रात तक टीके के के पहले डोज का 100 प्रतिशत लक्ष्य पूरा कर लिया गया।

    नेस्को जंबो कोविड सेंटर बंद

    मुंबई में मरीजों की घटती संख्या को देखते हुए बीएमसी ने गोरेगांव स्थित नेस्को ग्राउंड में बना जंबो कोविड सेंटर को बंद करने का निर्णय लिया है। इस सेंटर के फेज 2 को अब बंद कर दिया गया है। जंबो सेंटर को मई 2021 में बनाया गया था। इसमें 1500 बेड व 700 ऑक्सिजन बेड था। तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए छोटे बच्चों को ध्यान में रख कर नेस्को 2 में 250 बेड का फेमिली वार्ड शुरू किया गया था। हालांकि सेंटर में शुरू टीकाकारण अभी जारी रहेगा।  जंबों सेंटर में केवल 3 मरीज थे जिन्हें दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है।