bacchu kadu

    मुंबई: अपने आक्रामक बयानों के लिए सुर्ख़ियों में रहने वाले प्रहार संगठन के विधायक बच्चू कडू (MLA Bachchu Kadu) एक बार शिंदे-फडणवीस सरकार (Shinde-Fadnavis Government) पर भड़क गए हैं। उन्होंने साफ़ तौर से कहा है कि उन्हें मंत्री बनने की भूख नहीं है। विधायक कडू ने कहा है कि मेरे मंत्री बनने से ज्यादा कैबिनेट का विस्तार ( Cabinet Expansion) जरूरी है। 

    अमरावती में मीडिया से बातचीत करते हुए कडू ने कहा कि मंत्री पद उनके लिए कोई मायने नहीं रखता है। उन्होंने कहा कि मैं मंत्री पद को चूल्हे में डालता हूं। कडू ने कहा कि अब मैं मंत्री पद नहीं मिलने का दुख भूल गया हूं। कडू, आघाडी सरकार में स्कूली राज्य मंत्री थे, लेकिन शिवसेना में बगावत के बाद उन्होंने शिंदे गुट का दामन थाम लिया। हालांकि नई सरकार में कडू को मंत्री नहीं बनाया गया। इस वजह से वे नाराज चल रहे हैं। 

     शीतकालीन सत्र से पहले कैबिनेट का विस्तार!

    अब ऐसी चर्चा है कि 19 दिसम्बर से शुरू हो रहे महाराष्ट्र विधान मंडल के शीतकालीन सत्र से पहले कैबिनेट का विस्तार किया जा सकता है। ऐसे में अब एक बार फिर कडू को मंत्री बनाए जाने की चर्चा है। कैबिनेट की बैठक में राज्य सरकार ने दिव्यांग लोगों की सुविधा के लिए अलग से विभाग बनाने का फैसला किया है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कडू को दिव्यांग व्यक्तियों के मंत्रालय का पहला मंत्री बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा है सरकार ने दिव्यांग के लिए अलग से विभाग का गठन कर बड़ा फैसला लिया है। कडू ने कहा कि यह मंत्रालय केवल मंत्रालय तक सीमित नहीं रहेगा। बल्कि हम दिव्यांग की हर समस्याओं का समाधान कर उनकी सेवा करेंगे।