MLA Manda Mhatre

    मुंबई. महानगरपालिका चुनावों की तैयारी में जुटी भाजपा (BJP) को विधायक मंदा म्हात्रे (MLA Manda Mhatre) जोरदार झटका दे सकती हैं। मंदा म्हात्रे के बगावती रुख को देखते हुए भाजपा नेता उन्हें मनाने में जुट गए हैं। भाजपा नेता और पूर्व मंत्री आशीष शेलार (Ashish Shelar) ने उनसे मुलाकात कर उनकी व्यथा को जानने का प्रयास किया। मंदा म्हात्रे का नवी मुंबई (Navi Mumbai) के ही भाजपा विधायक गणेश नाईक (Ganesh Naik) से राजनीतिक पंगा है। जिसको देखते हुए अटकलें लगाई जा रही हैं कि महानगरपालिका चुनाव के पहले मंदा म्हात्रे शिवसेना में शामिल हो सकती हैं।

    नवी मुंबई में गणेश नाईक और मंदा म्हात्रे के बीच राजनीतिक वर्चस्व  की लड़ाई पिछले काफी समय से चल रही है। नाईक की वजह से मंदा म्हात्रे भाजपा में शामिल हुई थीं। और उन्होंने वर्ष 2014 के चुनाव में नाईक को पटखनी दी थी। वर्ष 2019 में विधानसभा चुनाव के पहले गणेश नाईक अपने पूरे कुनबे के साथ भाजपा में शामिल हुए थे। 

    नाईक के भाजपा प्रवेश का विरोध किया था

    उस समय मंदा म्हात्रे ने नाईक के भाजपा प्रवेश का विरोध किया था। यही नहीं उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में चुनाव लड़ने की तैयारी भी दिखाई थी। हालांकि भाजपा नेताओं ने बीच का रास्ता निकाला। भाजपा ने पहले गणेश नाईक को नहीं, बल्कि उनके बेटे को टिकट दिया था। बेटे के इंकार करने पर गणेश नाईक को टिकट मिला। नवी मुंबई से भाजपा के टिकट पर मंदा म्हात्रे और गणेश नाईक  दोनों निर्वाचित हुए, लेकिन दोनों के बीच वर्चस्व की लड़ाई समाप्त नहीं हुई है।

    खुल कर नाराजगी जतायी थी

    पिछले माह नवी मुंबई में  भाजपा विधायक मंदा म्हात्रे  ने पार्टी के खिलाफ खुल कर नाराजगी जतायी थी। महिला व बालकल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर  की मौजूदगी में म्हात्रे ने कहा था कि भाजपा में महिलाओं का सम्मान नहीं है। विधानसभा के लिए दो बार निर्वाचित होने के बाद भी मुझे पार्टी में अलग-थलग करने का प्रयास किया जाता है। हालांकि भाजपा अध्यक्ष चन्द्रकांत पाटिल ने कहा था कि मैं मंदा म्हात्रे से व्यक्तिगत मुलाकात कर उनकी शिकायतों को दूर करने का प्रयास करूंगा।

    आशीष शेलार ने की मुलाकात

     नवी मुंबई में विधायक मंदा म्हात्रे का बहुत बड़ा जनाधार है। यदि मंदा म्हात्रे ने अलग रास्ता अपनाया तो महानगरपालिका चुनाव चुनाव में भाजपा को बड़ा नुकसान हो सकता है। पिछले दिनों म्हात्रे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की तारीफ़ की थी। जिसके बाद से उनके शिवसेना में शामिल होने की अटकलें लगायी जा रही है। म्हात्रे की नाराजगी को दूर करने को लेकर भाजपा नेता आशीष शेलार ने सोमवार को उनसे मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक चर्चा हुई। शेलार को पार्टी ने नवी मुंबई महानगरपालिका का चुनाव प्रभारी बनाया है। शेलार ने सोमवार को पूर्व मंत्री गणेश नाईक से भी मुलाकात की है।