(Image-Twitter)
(Image-Twitter)

    मुंबई: आंगड़िया (Angadiya) से 10 लाख की वसूली का मामले में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) की सीआईयू यूनिट ने फरार आईपीएस सौरभ त्रिपाठी (IPS Saurabh Tripathi) के जीजा असिस्टेंट सेल्स कमिश्नर आशुतोष कुमार मिश्रा को बस्ती (Basti) से गिरफ्तार (Arrested) किया है। वह त्रिपाठी के संपर्क में था। इससे पहले उनके नौकर भी गिरफ्तार किया गया था। पुलिस सौरभ त्रिपाठी की तलाश कर रही है।

    मुंबई पुलिस की टीम ने बस्ती से आशुतोष कुमार मिश्रा की गिरफ्तार किया। उन्हें वहां से ट्रांजिट रिमांड पर मुंबई लाया गया है। वह 8 अप्रैल पुलिस हिरासत में हैं। सीआईयू यूनिट की सौरभ मामले की जांच में आशुतोष का नाम सामने आया था।

    अंबेडकर नगर के रहने वाले हैं आशुतोष

    अंबेडकरनगर के इंद्रलोक कॉलोनी निवासी आशुतोष मिश्रा बस्ती में असिस्टेंट सेल्‍स कमिश्नर कार्यरत थे। वह यहां 4 साल से तैनात थे। वह निलंबित आईपीएस अधिकारी सौरभ त्रिपाठी के जीजा हैं। मुंबई पुलिस ने खाते से लेन-देन के आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सौरभ के माता-पिता के घर छापेमारी की है। उनके करीबी और रिश्तेदारों से भी पूछताछ कर रही है।

    एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में दर्ज है मामला 

    एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में सौरभ त्रिपाठी के खिलाफ रंगदारी वसूली का मामला दर्ज किया है। आरोप है कि वह अंगडिया व्यापारियों से 10 लाख रुपए रंगदारी की मांग की थी। उनके घर से 1 लाख 50 हजार बरामद किए गए थे। इसी मामले में आशुतोष मिश्रा की यह तीसरी गिरफ्तारी की है। सौरभ त्रिपाठी मुंबई में परिमंडल-2 में डीसीपी के पद पर तैनात थे, फिलहाल वह फरार है।