uday samant
File Pic

    मुंबई : स्कूल (Schools) और जूनियर कॉलेज (Junior Colleges) शुरू करने के बाद अब राज्य सरकार ने डिग्री कॉलेज शुरू करने की घोषणा की है। उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत (Minister Uday Samant) ने 20 अक्टूबर से यूनिवर्सिटीज (Universities) और उससे संलग्न कॉलेजों (Colleges) को शुरू करने की घोषणा कर दी है। 

    कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के कारण राज्य में पिछले वर्ष से ही विद्यार्थियों को ऑनलाइन (Online) शिक्षा दी जा रही है। फिलहाल राज्य में कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में है। ऐसे में स्कूल और जूनियर कॉलेज शुरू होने के बाद यह सवाल उठ रहे थे कि डिग्री कॉलेज कब शुरू होंगे। बुधवार को मंत्री उदय सामंत ने पत्रकारों से संवाद साधते हुए कॉलेज शुरू करने की घोषणा की। यह निर्णय मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया है। 

     टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जाए 

    सामंत ने कहा कि  जिन विद्यार्थियों ने कोविड-19 की वैक्सीन की दोनों खुराक ले ली हैं, उन्हें यूनिवर्सिटी और कॉलेज में प्रवेश मिलेगा। यदि किसी विद्यार्थी का टीकाकरण नहीं हुआ है तो महाविद्यालय के प्राचार्य द्वारा स्थानीय जिला प्रशासन के समन्वय से टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जाए और टीकाकरण को प्राथमिकता से पूर्ण किया जाए। यूनिवर्सिटी और कॉलेज के शिक्षकों और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को भी प्राथमिकता दे टीकाकरण किया जाना चाहिए। यूनिवर्सिटी को स्थानीय अधिकारियों के परामर्श से अपने स्तर पर निर्णय लेना चाहिए कि क्या कक्षाएं पूरी क्षमता या 50 प्रतिशत क्षमता पर शुरू की जाए। सभी गैर-कृषि विश्वविद्यालय और उससे संलग्न कॉलेज कोविड-19 के प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय दिशा-निर्देशों, कार्यस्थलों पर अतिरिक्त निर्देश, राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों, मानक दिशा-निर्देशों (एसओपी) और विश्वविद्यालय द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अधीन होंगे।

    जारी रहेगी ऑनलाइन की पढ़ाई

    जो विद्यार्थी कॉलेज आने में असमर्थ हैं उनके लिए ऑनलाइन पढ़ाई जारी रखने का प्रबंध भी कॉलेजों करना अनिवार्य रहेगा। इसके अलावा आगनेवाले दिनों में चरणबद्ध तरीके से यूनिवर्सिटीज के हॉस्टल को भी शुरू किया जाएगा। विद्यार्थियों को लोकल में प्रवास करने मिले इसको लेकर भी एक प्रस्ताव मुख्य सचिव को भेजा जाएगा।