MBMC में अब कोरोना घोटाला !

  • क्वारंटाइन में रोजमर्रा की चीजों को 700% तक ज्यादा दाम में खरीदा

अनिल चौहान

भायंदर. मीरा-भायंदर मनपा ( Mira-Bhayander Manpa) में एक और खरीदी घोटाला हुआ है. सिलाई मशीन, सैनिटाइजर (स्प्रे) पम्प के बाद क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में रखे गए लोगों के लिए रोजमर्रा की चीजों की खरीदी में 700 फीसदी तक अधिक दाम चुकाए गए. इसका पर्दाफाश सत्ताधारी पार्टी भाजपा के नगरसेवक श्रीप्रकाश सिंह मुन्ना (Corporator Sriprakash Singh Munna) ने पत्रकार परिषद में सोमवार को किया.

सिंह ने कहा कि करप्ट सिस्टम ने कोरोना महामारी में भी करप्शन का अवसर ढूंढ लिया.जब लोग लोगों की मदद के लिए दोनों हाथ से दौलत खर्च कर रहे थे,उसी समय अधिकारी और ठेकेदार जनता के टैक्स के पैसे को लूटकर अपनी तिजोरी भरने में लगे थे. सिंह ने कहा कि सभी क्वारंटाइन सेंटर में लोगों के लिए 36 तरह की रोजमर्रा की चीजें जैसे बेड, तकिया, पीपीई किट, साबुन, टूथ ब्रश, टेल्क पाउडर, तेल, बोतल बंद पानी, टूथ पेस्ट आदि ठेकेदार मे. एम.एस. इंटरप्राइजेज के मार्फत उपलब्ध कराए गए थे.इसके लिए मनपा ने ठेकेदार को 100 से 700 फीसदी तक अधिक दाम चुकाए. हैरानी की बात है कि चीजें ऐसे -ऐसे फालतू ब्रांड की हैं,जिनका नाम कभी सुना ही नही गया हो.

घोटाला करोड़ों में हुआ है

बाजार में 50-60 रुपये में मिलने वाली प्लास्टिक की बाल्टी 150 रुपये में,89 रुपये की गुडनाइट 175 रुपये में,15 रुपये की क्रीम 67 रुपये में,400 रूपये में मिलने वाली पीपीई किट 700 रुपये में,12 नग एक लीटर पानी की बोतल 140 की बजाय 240 रुपये में खरीदी गईं. घोटाला करोड़ों में हुआ है. सिंह ने कहा कि इसकी शिकायत उन्होंने मनपा कमिश्नर डॉ. विजय राठौड़ से किया. महापौर ज्योत्स्ना हसनाले ने भी कमिश्नर को पत्र लिखा.मगर समाधनकारण उत्तर और कार्रवाई नही हुई.अगर 15 दिनों के भीतर ठेकेदार और अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई तो वे कोर्ट की शरण लेंगे.