Ashish Shelar Threat Calls: Threats calls to Maharashtra BJP leader Ashish Shelar, demands to state Home Minister Dilip Walse Patil for investigations
File

    मुंबई : अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) के आरोपों का प्रत्युत्तर देते हुए भाजपा नेता (BJP Leader) और पूर्व मंत्री आशीष शेलार (Ashish Shelar) ने कहा है कि हर्बल तंबाकू की आपूर्ति ठप होने से उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है।  नवाब मलिक ने हाइड्रोजन बम (Hydrogen Bomb) फोड़ने का दावा किया था, हाइड्रोजन बम छोड़िए, अब उन्हें ऑक्सीजन (Oxygen) की जरुरत पड़ेगी। उन्होंने कहा कि देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) पर आरोप लगाने के प्रयास का मतलब बीरबल की कहानी ‘लग्घी से  खिचड़ी पकाने ‘ के बराबर है। रियाज भाटी की गिरफ्तारी के बाद पूरी कलई खुल जाएगी।

    मुंबई भाजपा कार्यालय में आयोजित पत्रकार परिषद में आशीष शेलार ने नवाब मलिक के सभी आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा कि  रियाज भाटी का प्रधानमंत्री कार्यालय और उनके कार्यालय से किसी तरह का संबंध नहीं है। फोटो से संबंध प्रस्थापित करने का प्रयास मलिक ने किया है। जिस रियाज भाटी का फोटो उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ दिखाया है, उसी भाटी का फोटो एनसीपी प्रमुख शरद पवार, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के नेता पृथ्वीराज चव्हाण, पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे और मुंबई के पालक मंत्री असलम शेख के साथ भी है। 

    फोटो दिखा कर किसी को बदनाम करने का धंधा करना गलत 

    शेलार ने नेताओं के साथ भाटी का फोटो भी दिखाया। फोटो दिखा कर किसी को बदनाम करने का धंधा करना गलत है। भाटी का नाम सचिन वझे मामले में आया था। तभी से वह गायब है। खुद पर आंच आने से रोकने के लिए एनसीपी ने ही तो उसे गायब नहीं किया है क्या। यह सवाल उठना लाजमी है। उसकी गिरफ्तारी के बाद बहुत कुछ सामने आ सकता है।

    बड़ी तस्वीर बनाने की कोशिश नाकाम रही

     

     

    भाजपा नेता आशीष शेलार ने कहा कि विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस पर नवाब मलिक ने फिरौती और अंडरवर्ल्ड का आरोप लगाया है।  नवाब मलिक ने मुन्ना यादव, हाजी हैदर, रियाज भाटी, हाजी अराफात और समीर वानखेड़े के नामों से बड़ी तस्वीर बनाने की कोशिश की है। लेकिन ये कोशिश नाकाम रही है। मुन्ना यादव, हाजी अराफात , हाजी हैदर पार्टी के कार्यकर्ता हैं और उन्हें पार्टी में अलग -अलग तरह की जिम्मेदारी दी गयी है।  राज्य में पिछले दो साल से महाविकास आघाड़ी की सरकार है। गृह मंत्री का पद  राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पास है। उन्हें जांच करानी चाहिए थी। हाजी अराफात और हैदर आजम पर आपराधिक नहीं, बल्कि आंदोलन  से जुड़े मामले हो सकते  हैं।

    इमरान आलम शेख एनसीपी नेता 

    राज्य में 14।56 करोड़ रुपए के जाली नोटों का मुद्दा उठाते हुए नवाब मलिक ने  इमरान आलम शेख का नाम लिया है जो हाजी अराफात के भाई हैं। इसका जवाब देते हुए शेलार ने कहा कि जब जाली नोट पकड़ी गयी थी और इमरान को गिरफ्तार किया गया था तब वह कांग्रेस का सचिव था। अब वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता है।