Nawab Malik filed a reply in the court on the defamation case, said- the case should be dismissed as it's not maintainable
File Photo:Twitter

    मुंबई : ड्रग्स (Drugs) मुद्दे को लेकर महाराष्ट्र की अघाड़ी सरकार और भाजपा (BJP) के बीच लड़ाई अपने चरम पर है। गुजरात (Gujarat) के द्वारका (Dwarka) में 350 करोड़ रुपए का ड्रग्स मिलने के बाद महाराष्ट्र विकास अघाड़ी में शामिल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) और शिवसेना (Shivsena) ने भाजपा पर हमला बोला है।

    राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता (National Spokesperson) और कैबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा है, कि भाजपा शासित गुजरात राज्य में भारी मात्रा में ड्रग्स पकड़े जाने के बाद अब सवाल उठ रहे हैं, कि कहीं इन सारे खेल का केंद्र गुजरात तो नहीं है। उन्होंने कहा कि मुंबई में क्रूज ड्रग्स मामले के गवाह मनीष भानुशाली, धवल भानुशाली, के.पी. गोसावी और सुनील पाटिल सभी अहमदाबाद के फाइव स्टार होटल में ठहरे थे। इन सभी का गुजरात मंत्री के साथ फोटो भी सामने आया है। ऐसे में इस बात की जांच करना जरुरी है कि कहीं गुजरात से ड्रग्स रैकेट तो नहीं चलाया जा रहा है।

    समुद्र के रास्ते सैकड़ों किलोग्राम का ड्रग्स

    नवाब मलिक ने कहा कि मुंबई में दो ग्राम नशीला पदार्थ बरामद होता है तो बॉलीवुड सितारों की परेड कराई जाती हैं, लेकिन गुजरात में समुद्र के रास्ते सैकड़ों किलोग्राम का  ड्रग्स लाया जा रहा है। ऐसे में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को इसकी भी जांच करनी चाहिए।

    सिनेवर्ल्ड के लोग ड्रग्स के खेल में शामिल तो नहीं 

    शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस मामले में चिमटी लेते हुए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में ड्रग्स पर नजर रखने वाले अधिकारियों को गुजरात में मिले 350 करोड़ रुपए ड्रग्स की भी जांच करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गुजरात के द्वारका से पहले मुंद्रा बंदरगाह पर करीब 3,000 किलोग्राम मादक पदार्थ जब्त किया गया था। लेकिन यह ड्रग्स किसका था, इस बात की कोई जांच नहीं की गई है। राउत ने कहा कि वानखेड़े को वहां देखना चाहिए कि क्या गुजरात में अमीरों के बच्चे और सिनेवर्ल्ड के लोग ड्रग्स के खेल में शामिल तो नहीं है।