Easy landing of large aircraft at Shirdi International Airport, runway length increased by 700 meters

  • जल्द शुरू होगी नाईट लैंडिंग की सुविधा

मुंबई. शिर्डी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Shirdi International Airport) पर बड़े विमानों की लैडिंग (Landing) आसान करने के लिए वहां के एयरपोर्ट के रनवे (Runway) विस्तार के काम को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है। पहले यहां के एयरपोर्ट के रनवे की लंबाई 2,500 मीटर थी। इस वजह से यहां बड़े विमानों की लैंडिंग मुश्किल थी, लेकिन अब इसे बढ़ा कर 3,200 मीटर कर दिया गया है। इस सुविधा से अब यहां बड़े विमानों की लैंडिंग आसान हो गई  है। कोरोना (Corona) की वजह से इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए मनुष्य बल की कमी पड़ रही थी। इसके बावजूद इस योजना को 6 महीने के रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया है। 

महाराष्ट्र एयरपोर्ट डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एमएडीसी)  के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक दीपक कपूर ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से कर्नाटक से आए मजदुर अपने राज्य वापस लौटे गए थे। ऐसे में इस काम को पूरा करना हमारे लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। हमलोगों ने स्थानीय स्तर पर मजदूरों का प्रबंध कर इस काम को रिकॉर्ड समय में पूरा किया। शिर्डी में भगवान साईं का मंदिर है, जिनके दर्शन के लिए रोजाना काफी संख्या में भक्त वहां पहुंचते हैं।

नाईट लैंडिंग की सुविधा

शिर्डी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विमानों की नाईट लैंडिंग की भी सभी सुविधा पूरी कर ली गई है। इस सेवा को शुरू करने के लिए अब सिर्फ इंडियन मेट्रोलोजिकल डिपार्टमेंट (आईएमडी ) द्वारा उपकरण लगाए जाने का काम बाकी है। एमएडीसी के दीपक कपूर ने कहा कि इस काम को पूरा करने के लिए हमारी आईएमडी और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के साथ लगातार बातचीत चल रही है। हमें उम्मीद है की जल्द ही इस काम को पूरा कर लिया जाएगा।

राज्य का चौथा व्यस्त एयरपोर्ट

यात्री भार के मामले में शिर्डी एयरपोर्ट ने औरंगाबाद, नांदेड़, नाशिक और कोल्हापुर जैसे हवाई अड्डों को पीछे छोड़ दिया है। यह एयरपोर्ट मुंबई, पुणे और नागपुर के बाद महाराष्ट्र का चौथा सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है। पिछले साल 22 मार्च को कोविड की वजह से लगे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन से पहले शिर्डी में कुल 26 उड़ानें (लैंडिंग और प्रस्थान में से प्रत्येक में 13) दर्ज की गईं थी। जिसमें लगभग 20,000 से 25,000 लोग रोजाना यहां आते थे।

शिर्डी इंटरनेशनल एयरपोर्ट महाराष्ट्र का एक अहम एयरपोर्ट है। इस एयरपोर्ट पर रोजाना काफी संख्या में भक्तगण आते हैं। कोरोना काल के बावजूद हमलोगों ने एयरपोर्ट के रनवे के विस्तारीकरण और नाईट लैंडिंग की सुविधा के काम को पूरा कर लिया है। इस काम को पूरा करने से एक ओर जहां राजस्व में वृद्धि होगी, वहीं पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

-दीपक कपूर, उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, एमएडीसी