Ashish-Shelar

  • 1 लाख विद्यार्थी अभी भी 11वीं में प्रवेश से वंचित

मुंबई. कोरोना (Corona) की वजह से 11वीं कक्षा में प्रवेश प्रक्रिया (Admission Process) देरी (Late) से चल रही है. इसको लेकर अफरातफरी का माहौल है, लगभग 1 लाख से अधिक विद्यार्थी (Students) अभी भी प्रवेश से वंचित हैं. विद्यार्थियों और अभिभावकों की परेशानी को दूर करने के संदर्भ में भाजपा नेता और पूर्व शिक्षा मंत्री आशीष शेलार (Ashish Shelar) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) को पत्र लिखा है.

मुख्यमंत्री ठाकरे को लिखे पत्र में शेलार ने कहा है कि जून महीने में दसवीं का परीक्षा परिणाम घोषित हुआ है, लेकिन अभी तक प्रवेश प्रक्रिया पूरी नहीं हो पायी है. इस साल रिजल्ट आने के 15 दिन बाद प्रवेश प्रक्रिया शुरू की गयी, जबकि हर साल की भांति रिजल्ट आने के दुसरे या तीसरे दिन प्रवेश प्रक्रिया शुरु हुई होती तो मराठा समाज के विद्यार्थियों को भी आरक्षण के मुताबिक प्रवेश मिल गया होता. मराठा आरक्षण पर स्टे मिलने के पहले ही प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो गयी होती. सरकार की उदासीनता का खामियाजा विद्यार्थियों को भुगतना पड़ा है. 

इस साल विलंब से प्रवेश प्रक्रिया शुरु हुई

इस साल विलंब से प्रवेश प्रक्रिया शुरु हुई और रफ्तार नहीं पकड़ सकी.  राज्य में ऐसा कहीं देखने को नहीं मिल रहा है कि प्रवेश प्रक्रिया दोषमुक्त शुरु है. शेलार ने पत्र के जरिए प्रवेश प्रक्रिया पर ध्यान देने के लिए  प्राचार्य और शिक्षकों की गठित की गयी कमिटी, प्रवेश प्रक्रिया के लिए  मार्गदर्शक पुस्तिका,  दसवीं का अक्टूबर में ली गयी पुनः परीक्षा का परिणाम आदि मुद्दों पर सरकार का ध्यान केंद्रित किया है.