NCP chief Sharad Pawar
File Photo

    मुंबई : छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) के बारे में दिए गए बयान को लेकर महाराष्ट्र (Maharashtra) के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी (Governor Bhagat Singh Koshyari) की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार (Nationalist Congress Party President Sharad Pawar) ने कोश्यारी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि राज्यपाल कोश्यारी ने अपने पद की गरिमा और मर्यादा की सारी हदों को पार कर लिया है। पवार ने अब इस मामले में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की अपील की है। उन्होंने कहा इस तरह के गैर-जिम्मेदार बयान देने वाले व्यक्तियों बड़े पदों पर नियुक्त नहीं किया जाना चाहिए। पवार, मुंबई में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्यपाल का पद एक संस्था का प्रतिनिधित्व करता है और उस पद की गरिमा बनाए रखना बेहद जरूरी है। 

    राज्यपाल का बयान आपत्तिजनक

    पवार ने कहा कि इससे पहले भी राज्यपाल कोश्यारी ने कई विवादित बयान दिए हैं। उन्होंने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में उनका बयान काफी आपत्तिजनक है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने आगे कहा कि संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को इस तरह की टिप्पणी करना शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा कि मैं उस कार्यक्रम में मौजूद था, जहां राज्यपाल ने यह विवादित बयान दिया था। पवार ने कहा कि कोश्यारी के बयान में मेरा कोई जिक्र नहीं था। राज्यपाल ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के बारे में बात की थी। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने बाद में छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रशंसा की, लेकिन यह देर का ज्ञान है। 

    राज्यपाल दिल्ली तलब

    शरद पवार ने यह बयान ऐसे समय में दिया है, जब राज्यपाल कोश्यारी को दिल्ली तलब किया गया है। सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल 2  दिवसीय दौरे के  लिए दिल्ली रवाना होंगे। दिल्ली में उनका राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के अलावा गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की योजना है। जानकारों का कहना है कि राज्यपाल छत्रपति शिवाजी के बारे में दिए गए बयान को लेकर अपनी सफाई पेश करेंगे। महाविकास आघाड़ी में शामिल शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के नेता राज्यपाल को महाराष्ट्र से बाहर भेजे जाने की मांग कर रहे हैं। 

    मोदी और शाह को पत्र

    छत्रपति शिवाजी के वंशज उदयन राजे भोसले ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिख कर राज्यपाल कोश्यारी को उनके पद से हटाए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने विवादित बयान देकर छत्रपति शिवाजी का अपमान किया है। उदयन ने कहा कि इस तरह के बयान को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। 

    राज्यपाल ने क्या कहा!

    हाल ही में डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय के 62वें  दीक्षांत समारोह में राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने बोलते हुए कहा था कि अब छत्रपति शिवाजी महाराज पुराने युग के हीरो हैं। उन्होंने कहा कि अब डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर और नितीन गडकरी नए जमाने के आदर्श हैं। इस बयान के बाद से कोश्यारी चौतरफा घिर गए हैं।