Admission

    मुंबई. राज्य के पांच विभागीय मंडल में 11वीं में एडमिशन (11th Admission) की ऑनलाइन प्रक्रिया (Online Process) को इस साल विद्यार्थियों (Students) का ज्यादा प्रतिसाद नहीं मिला है। इस साल मुंबई (Mumbai), नागपुर (Nagpur), पुणे (Pune), नासिक (Nashik) और अमरावती (Amravati) नगर निगम क्षेत्रों में 50 फीसदी से ज्यादा सीटें खाली हैं। तीन जनरल मेरिट लिस्ट के बाद अब तक 55.74 फीसदी विद्यार्थियों ने ही एडमिशन लिया है। पांच नगर निगम क्षेत्रों के 1 हजार 494 कॉलेजों में उपलब्ध 5 लाख 33 हजार 670 सीटों के लिए 3 लाख 85 हजार 396 विद्यार्थियों ने आवेदन किया था। इनमें से 2 लाख 14 हजार 806 विद्यार्थियों को ही प्रवेश मिला है। 3 लाख 18 हजार 864 सीटें (59.75 फीसदी) अभी भी खाली हैं।

    मुंबई मंडल में 3 लाख 20 हजार 500 सीटें उपलब्ध थीं। इन सीटों के लिए कुल 2 लाख 41 हजार 899 विद्यार्थियों ने आवेदन किया था। इनमें से केवल 1 लाख 30 हजार 651 विद्यार्थियों को ही प्रवेश दिया गया है। 1 लाख 89 हजार 849 सीटें (59.24 फीसदी) अभी भी खाली हैं। प्रवेश से वंचित विद्यार्थियों को शनिवार से शुरू हुई विशेष मेरिट लिस्ट में प्रवेश पाने का मौका मिलेगा। 

    आवेदन की अंतिम तिथि 20 सितंबर 

    आवेदन की अंतिम तिथि 20 सितंबर है, जिसके दौरान विद्यार्थी बाय फोकल शाखा के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने वाले विद्यार्थियों को कौन सा कॉलेज आवंटित किया जाएगा, यह 22 सितंबर को पता चलेगा। विद्यार्थियों को उनके लॉगइन में कॉलेज आवंटन के बारे में सूचित किया जाएगा। लिस्ट में नाम आने के बाद विद्यार्थियों को संबंधित कॉलेजों में एडमिशन की अंतिम तिथि 25 सितंबर है और प्रवेश के बाद रिक्त सीटों का विवरण भी 25 सितंबर को वेबसाइट पर घोषित किया जाएगा। इस बीच, विद्यार्थी अल्पसंख्यक, प्रबंधन, इन-हाउस कोटा में प्रवेश के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

    अंतिम मौका हो सकता है यह 

    शिक्षा निदेशक दत्तात्रेय जगताप ने विद्यार्थियों से स्पेशल राउंड में प्रवेश रद्द करने से पहले सोचने की अपील की है। शिक्षा विभाग इस राउंड में अधिक से अधिक रिक्त सीटों को भरने का प्रयास कर रहा है, जो अंतिम प्रवेश दौर हो सकता है। इसलिए विद्यार्थियों को प्रवेश से इंकार करने के निर्णय से बचना चाहिए।