World Heart

    सूरज पांडे

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) सहित पूरे महाराष्ट्र (Maharashtra) में गैर-संचारी के रोग के कारण लाखों लोग अपनी जान गंवाते हैं, लेकिन इसमें सबसे ज्यादा लोगों की प्राण लेने वाली दिल से संबंधित बीमारियां (Heart Disease) हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत संचालित होने वाले हेल्थ मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम (HMIS) से मिले आंकड़ों के अनुसार, पिछले 5 वर्ष में उच्च रक्त चाप और हृदय रोग के कारण राज्य में 2 लाख 19 हजार 268 मौतें हुई है। उक्त मौतों का आंकलन करें तो रोजना औसतन 120 लोगों की जान उक्त बीमारियों ने ली है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की माने तो हृदय रोग ही टॉप किलर है।  मरीजों की संख्या के साथ-साथ मरनेवालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। 

    डायरेक्टरेट ऑफ हेल्थ एंड सर्विसेस के उप संचालक डॉ। जी। एम। गायकवाड़ ने बताया कि हृदय रोग का सबसे बड़ा कारण हमारी अनियमित जीवनशैली और खानपान है। हर वर्ष करीब 50 हजार से अधिक लोगों की मौत हृदय रोग के कारण होती है। यह आंकड़े बढ़ रहे हैं, ऐसे में लोगों को अपनी जीवनशैली में सुधार लाने और जंक फूड की बजाए पौष्टिक आहार लेने और थोड़ी शारीरिक कसरत और योग करने की जरूरत है।

    क्या कहते हैं आंकड़े                 

    वर्ष    महाराष्ट्र  मुंबई
    2017-18    42166    1370
     2018-19      48479 2436
    2019-20 51369  7256
    2020-21  53750 4815
    2021-22  15565 498

     अप्रैल-मई तक