Mumbai Local Train Updates: Mumbai local trains gets crowded again, 7.4 lakh season tickets have been given in a month
File

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) की ‘लाइफलाइन’ (Lifeline) कही जाने वाली लोकल ट्रेन में भीड़ बढ़नी शुरू हो गई है। गणपति पर्व पर लोगों की आवाजाही और उद्योग धंधे खुल जाने से लोकल ट्रेनों में यात्रियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। गत 15 अगस्त से आम लोगों के लिए शर्तों के साथ लोकल के दरवाजे खोल दिए गए थे। पिछले एक माह के दौरान 7 लाख 50 हजार से ज्यादा लोकल पास बिक चुके हैं। वैक्सीन की दो डोज ले चुके लोगों को ही लोकल यात्रा पास जारी किए जा रहे हैं। 

    बताया गया कि अब तक मध्य रेलवे ने 5.60 लाख और पश्चिम रेलवे ने 2 लाख एमएसटी जारी किए हैं। राज्य सरकार के निर्देशानुसार दूसरी डोज लेने के बाद 14 दिन की कालावधि पूरी कर चुके सभी लोगों के लिए लोकल यात्रा के पास जारी किए जा रहें हैं। मध्य रेलवे के 75 जबकि पश्चिम रेलवे पर 38 उपनगरीय स्टेशनों पर हेल्प डेस्क कार्यरत हैं।

    पहले की तरह चहल-पहल

    लोकल यात्रा की परमिशन दिए जाने के बाद उपनगरीय स्टेशनों पर पहले की तरह चहल पहल बढ़ गई है। मध्य रेल के सीएसएमटी, भायखला, दादर, कुर्ला, घाटकोपर, मुलुंड, ठाणे, डोम्बिवली, कल्याण,बदलापुर इन उपनगरीय स्टेशनों से यात्रा करने वालों की भीड़ रोजाना बढ़ हो रही है, जबकि वेस्टर्न रेलवे पर चर्चगेट, मुम्बई सेंट्रल, अंधेरी, दादर, बोरीवली, भायंदर, वसई, नालासोपारा, विरार स्टेशनों से मुंबई की तरफ लोगों की आवाजाही तेज हो रही है।

    सिंगल टिकट न मिलने पर अब भी लोग बिना टिकट यात्रा करने पर मजबूर

    लंबी दूरी की ट्रेनों में भी यात्रियों की संख्या बढ़ने से स्टेशनों पर भीड़ बढ़ गई है। उपनगरीय स्टेशन पर सिंगल टिकट जारी किए जाने को लेकर अभी भी विवाद की स्थिति बनी हुई है। किसी स्टेशन पर टिकट दे दिया जाता है, तो किसी टिकट खिड़की से नियमों का हवाला देकर वापस लौटा दिया जा रहा है। इससे सप्ताह में एक दो दिन लोकल यात्रा करने वालों को महीने भर का पास लेना पड़ रहा है। इसके अलावा सिंगल टिकट न मिलने पर अब भी लोग बिना टिकट यात्रा करने पर मजबूर हैं।

    42 लाख से ज्यादा यात्री 

    कोरोनाकाल में आम लोगों के लिए महीनों बंद लोकल में पिछले एक माह से भीड़ काफी बढ़ गई है। मध्य रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, इस समय 26 लाख से ज्यादा लोग लोकल से यात्रा कर रहें हैं, वहीं पश्चिमी उपनगरीय लोकल से  16 लाख से ज्यादा लोग रोजाना यात्रा करने लगे हैं। 

    चल रही 95 प्रतिशत लोकल

    बताया गया कि रविवार को छोड़ अन्य दिनों में मध्य और पश्चिम उपनगरीय नेटवर्क पर 95 प्रतिशत लोकल का संचालन हो रहा है। मध्य रेल नेटवर्क पर 1686 फेरियां जबकि पश्चिम रेलवे पर 1300 फेरियां लग रहीं हैं। वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार बढ़ती भीड़ के साथ जल्द ही शतप्रतिशत लोकल का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। 

    बिना मास्क लोकल यात्रा

    मुंबई में कोरोना लगभग नियंत्रण में है, लेकिन कोविड से सुरक्षा को लेकर लोगों की लापरवाही दिखाई दे रही है। मुंबई लोकल और  रेल परिसर में बिना मास्क वाले यात्रियों की संख्या भी बढ़ रही है। लोकल और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ बढ़ने के साथ तीसरी लहर की आशंका के चलते यात्रियों से सोशल डिस्टेंस, मास्क पहनने की अपील की जा रही है। इसके बावजुद लोग बिना मास्क पहने यात्रा कर रहे हैं। पश्चिम और मध्य रेलवे के लोकल स्टेशनों पर रोजाना बड़ी संख्या में बिना मास्क वालों को पकड़ा जा रहा है। लोकल के अलावा बसों में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा है,ऐसे में बिना मास्क यात्रा करने से समस्या बढ़ सकती है।