जानें क्यों भड़के विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस

    मुंबई : महाराष्ट्र (Maharashtra) विधानमंडल (Legislature) का शीतकालीन सत्र (Winter Session) मुंबई (Mumbai) में 22 से 28 दिसंबर (December) के बीच पांच दिनों के लिए आयोजित (Held) किए जाने का फैसला (Decision) किया गया है। सोमवार को कामकाज सलाहकार (Consultant) समिति (Committee) की बैठक (Meeting) के बाद संसदीय कार्य मंत्री अनिल परब ने यह जानकारी दी।

    उन्होंने कहा कि सत्र को आगे बढ़ाने के बारे में 24 दिसंबर को चर्चा की जाएगी। शीतकालीन सत्र पहले सप्ताह में 22, 23 और 24 दिसंबर और दूसरे सप्ताह में 27 और 28 दिसंबर को होगा। इस अधिवेशन में 11 विधेयक और 1 विनियोग विधेयक समेत कुल 12 विधेयक पेश किए जाएंगे। इससे पहले यह सत्र सात दिसंबर से नागपुर में प्रस्तावित था।

    हम अधिवेशन को आगे बढ़ाने की मांग करेंगे

    विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने पांच दिनों का शीतकालीन सत्र आयोजित किए जाने की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि ठाकरे सरकार को संसदीय मामलों में कोई दिलचस्पी नहीं है। देवेंद्र ने कहा कि यह स्पष्ट है कि ठाकरे सरकार सत्र में विपक्ष के सवालों से बचने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि सत्र के तीन दिन बाद एक बार फिर कामकाज सलाहकार समिति की बैठक होगी। उसमें हम अधिवेशन को आगे बढ़ाने की मांग करेंगे।

    उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी गई है

    विपक्ष नेता देवेंद्र ने कहा कि हमारी मांग है कि बजट अधिवेशन नागपुर में होना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि शीतकालीन अधिवेशन को जानबूझकर नागपुर में नहीं आयोजित किया गया है। हालांकि संसदीय कार्य मंत्री अनिल परब ने कहा कि मुख्यमंत्री के खराब स्वास्थ्य की वजह से यह फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का स्वास्थ्य पहले से बेहतर हैं, लेकिन अभी कुछ दिनों के लिए उन्हें उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी गई है।

    एक पार्टी के रूप में कोई दोस्ती नहीं है

    देवेंद्र ने आघाडी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि इस सरकार को हम नहीं गिराएंगे, बल्कि यह खुद अपने अंतर विरोध की वजह से गिरेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि यह पूरी तरह से करप्शन में लिप्त है। देवेंद्र ने कहा कि राजनीति में कोई भी दोस्त हो सकता है, लेकिन अब शिवसेना और हमारे बीच दोस्ताना नहीं है। हमारी व्यक्तिगत दोस्ती हो सकती है,  लेकिन एक पार्टी के रूप में कोई दोस्ती नहीं है।

    सीएम ठाकरे सत्र में रहेंगे मौजूद

    मंत्री अनिल परब ने कहा है कि सीएम उद्धव ठाकरे मुंबई में आयोजित किए जाने वाले शीतकालीन सत्र के दौरान सदन में मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री का हाल ही में रीढ़ का ऑपरेशन हुआ है। जिसके बाद से वह स्वास्थ्य लाभ कर रहे है। हालांकि उन्होंने अपना काम शुरू कर दिया है। वे अपने कैबिनेट की बैठकों में भाग ले रहे है।

    दो डोज लेने वालों को इंट्री

    संसदीय मंत्री अनिल परब ने कहा कि शीतकालीन सत्र में कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को इंट्री दी जाएगी। वहीं सभी के आरटीपीसीआर परीक्षण भी अनिवार्य होंगे।