कोरोना के चपेट में मालाड का कुरार गांव, प्रशासन ने लगाया इलाके में कर्फ्यू का दांव

– हर तरफ पसरा सन्नाटा, सड़कें और गलियां सूनी

– डिंडोशी विधानसभा के 7 वार्ड प्रभावित

– अब तक मिले 1452 पॉजिटिव

– अस्पताल में 435 मरीज, 45 की हुई मौत

– कोरोना को हल्के में लेना लोगों को पड़ा भारी

– मनपा और पुलिस ने की पूरी तैयारी

मुंबई. शासन और प्रशासन की बार-बार दी गयी चेतावनी का उल्लंघन करना लोगों को अब भारी पड़ने लगा है. मालाड पूर्व का पूर्णतः झोपड़पट्टी वाला कुरार गांव और उसके आसपास का परिसर कोरोना संक्रमितों का नया धारावी बनता जा रहा है. लोगों में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए मनपा के पी नार्थ विभाग के सहायक मनपा आयुक्त संजोग कबरे ने उच्च अधिकारियों और संबंधित जनप्रतिनिधियों से विचार विमर्श के बाद गुरुवार की रात 12 बजे से मालाड पूर्व के अंतर्गत आने वाले कुरार विलेज, अप्पा पाड़ा, क्रांति नगर, कोकणी पाड़ा, तानाजी नगर, पिंपरी पाड़ा, शिवाजी नगर आदि क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाते हुए बाहरी लोगों का पूर्णतः आवागमन बंद कर दिया जाएगा. 

 राज्य रिजर्व पुलिस बल तैनात

कुरार पुलिस स्टेशन के साथ यहां राज्य रिजर्व पुलिस बल को तैनात कर दिया है. इसके चलते कुरार गांव के साथ अन्य क्षेत्रों की सड़कें और गलियां सूनी पड़ी हैं. मुख्य मार्ग पर सन्नाटा पसरा हुआ है. जहां एक दिन पूर्व चहल पहल और भीड़भाड़ दिखाई देती थी वहां सिर्फ पुलिस के जवान तैनात नजर आ रहे हैं.

मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा

डिंडोशी विधानसभा के अंतर्गत आने वाले इस परिसर में मनपा के 37, 38, 39, 40, 41, 42 तथा 43 वार्ड आते हैं. इन सातों वार्डों में 5 लाख से अधिक की आबादी रहती है. इस परिसर के तंग गलियों में रहने वाली घनी आबादी धारावी की ही तरह मध्यम और निम्न वर्ग से आती है. कोरोना के बढ़ते प्रसार ने मनपा प्रशासन के लिए चुनौती उत्पन्न कर दी है. पिछले कई दिनों से कुरार गांव में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा था जिसको संज्ञान में लेते हुए मनपा ने अंततः पूरे परिसर को कन्टेनमेंट जोन में परिवर्तित करने का फैसला किया. इसको और कड़ा करते हुए मनपा ने कर्फ्यू लागू कर दिया है.

लापरवाही पड़ी भारी

वैश्विक महामारी कोरोना के चलते मुंबई में जब से सरकार ने लॉकडाउन लागू किया है, लोगों से अपने घरों में ही रहने की सलाह दी जाती रही, लेकिन लोगों द्वारा बरती गई लापरवाही का खामियाजा अब कोरोना विस्फोट के रूप में सामने आ रहा है. मनपा की पूरी कोशिश है कि कुरार गांव समेत अन्य हिस्सों में जांच में तेजी लाते हुए अन्य उपाय किये जायेंगे.

-संजोग कबरे, सहायक मनपा आयुक्त-पी नार्थ

इसके अलावा कोई चारा नहीं था

जिस तरह से डिंडोशी विधानसभा के इन वार्डों में तेजी से कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है उसको देखते हुए कर्फ्यू के अलावा कोई चारा नहीं था. मैंने मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री से बात कर कुरार गांव के लोगों को कोरोना से बचाने के लिए तत्काल कदम उठाने की कही थी. अब इसके बाद कोरोना जांच का सघन अभियान चलाया जाएगा.

-सुनील प्रभु, डिंडोशी विधायक

मनपा कोई कसर नहीं बाकी रखेगी

यह इस परिसर के लोगों के लिए बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. यदि लोगों ने थोड़ी सावधानी और संयम रखा होता तो कर्फ्यू जैसे हालात से न गुजरना पड़ता. अब मनपा अपनी पूरी क्षमता के साथ कुरार गांव के सभी वार्डों में घर-घर जाकर न केवल उनकी जांच करेगी, बल्कि अन्य प्रकार की मदद की जाएगी. सभी से अपील है घबराने की जरूरत नहीं है. जांच और उपचार में कोई कमी नहीं होने पाएगी.  -विनोद मिश्र, अध्यक्ष पी-नार्थ प्रभाग समिति